केन्द्रीय सरना समिति घृणा न फैलाएं, प्रधानमंत्री किसी दल का नहीं, पूरे देश का होता है, सम्मान करना सीखें

अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद् से संम्बद्ध केन्द्रीय सरना समिति के अध्यक्ष अजय तिर्की ने कल एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर धरती आबा बिरसा मुंडा के वंशजों का अपमान करने का आरोप लगाया है, साथ ही उन्होंने यह भी कह डाला कि भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा पर उनके द्वारा माल्यार्पण सिर्फ दिखावा है।

अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद् से संम्बद्ध केन्द्रीय सरना समिति के अध्यक्ष अजय तिर्की ने कल एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर धरती आबा बिरसा मुंडा के वंशजों का अपमान करने का आरोप लगाया है, साथ ही उन्होंने यह भी कह डाला कि भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा पर उनके द्वारा माल्यार्पण सिर्फ दिखावा है। उन्होंने कहा कि आदिवासी के हक अधिकार, जलजंगल जमीन उनकी सुरक्षा कवच के रुप में बने संवैधानिक अधिकारों के साथ छेड़छाड़ करनेवाली भाजपा सरकार का सभी आदिवासी समुदाय विरोध करता है।

केन्द्रीय सरना समिति के महासचिव संतोष तिर्की के अनुसार आज केन्द्रीय सरना समिति के नेतृत्व में पूर्वाह्न 11.30 बजे सात मौजा के पाहनों एवं विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संगठनों के द्वारा आदिवासी रुढ़िवादी परम्परा के अनुरुप धरती आबा बिरसा मुंडा की प्रतिमा का शुद्धिकरण पारम्परिक रीतिरिवाज रानु पानी से किया जायेगा।

अब सवाल उठता है कि इस प्रकार के कार्यक्रम करने से किसको क्या फायदा मिलनेवाला हैं, क्या इससे समाज में कटुता पैदा नहीं होगी? क्या यह देश के प्रधानमंत्री का अपमान नहीं, क्या देश के उन 130 करोड़ जनता का अपमान नहीं, जिसका नेतृत्व प्रधानमंत्री कर रहे हैं। लोकतंत्र में विरोध, अगर विरोध की तरह हो, तो ठीक है, पर इसके नाम पर घृणा का वातावरण तैयार करना, वह भी सरना के नाम पर ये सब कार्य हो, तथा प्रधानमंत्री को अपमानित करने के लिए इसे किये जाये, इसे कोई भी सभ्य व्यक्ति या सभ्य समाज किसी भी प्रकार से सही नहीं ठहरा सकता।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

JMM ने कहा लोहरदगा की जनता ने मोदी को दिया जवाब “लहर नहीं ललकार है, मोदी सरकार बेकार है”

Wed Apr 24 , 2019
झारखण्ड मुक्ति मोर्चा ने आज अपने मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कल की रोड शो और लोहरदगा में आयोजित जनसभा को लेकर कड़ी टिप्पणी कर दी। झामुमो के केन्द्रीय प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य का कहना था कि लोहरदगा में पीएम मोदी की सभा में कुर्सियां खाली थी, रोड शो में भी कही कोई जनसैलाब नहीं दिखा, फिर भी उन्होंने लोहरदगा की जनसभा में कह दिया कि “ये लहर नहीं ललकार है”

You May Like

Breaking News