धनबाद के हरिहरपुर थाना के एन-एच से सटे अमलखोरी गांव से दस पेटी विस्फोटक बरामद

धनबाद-गिरिडीह की सीमा पर एन-एच से सटे अमलखोरी गांव में स्थानीय पुलिस ने दस पेटी विस्फोटक बरामद किया है। इन सारी पेटियों में जिलेटिन है। जिसमें एक जिलेटिन का वजन 125 ग्राम है। ये सारे जिलेटिन नागपुर में बने हैं। बताया जाता है कि अमलखोरी गांव के ग्रामीणों ने इसकी सूचना  हरिहरपुर थाने और धनबाद एसएसपी को दी थी।

धनबाद-गिरिडीह की सीमा पर एन-एच से सटे अमलखोरी गांव में स्थानीय पुलिस ने दस पेटी विस्फोटक बरामद किया है। इन सारी पेटियों में जिलेटिन है। जिसमें एक जिलेटिन का वजन 125 ग्राम है। ये सारे जिलेटिन नागपुर में बने हैं। बताया जाता है कि अमलखोरी गांव के ग्रामीणों ने इसकी सूचना  हरिहरपुर थाने और धनबाद एसएसपी को दी थी। आज हरिहर पुलिस ने इसे बरामद किया तथा प्रधानखंता से सीआरपीएफ के बम निरोधक दस्ते को बुलाकर इसकी जांच कराई। पुलिस इन सारी विस्फोटकों को थाने में ले आई है।

बताया जाता है कि गत शुक्रवार की रात एक विस्फोटक से लदा वाहन, जहां से आज विस्फोटक बरामद हुआ है, वहां से गुजरते हुए एन-एच की ओर आ रहा था, जिसे शक के आधार पर हरिहरपुर थाने के ग्रामीणों ने रोककर हरिहरपुर थाने और धनबाद एसएसपी को इसकी जानकारी दी थी। जिसे थाना भी लाया गया था, पर इस वाहन का चालक गाड़ी छोड़कर भागने में कामयाब रहा। ये वाहन अपने निर्धारित रुट से न होकर अन्य रुट से जा रही थी।

सूत्र बताते है कि यह वाहन आसनसोल से आ रहा था और शेखपुरा जा रहा था, कागजात के अनुसार इस वाहन में 163 पेटी माल होने चाहिए थे, पर जांचोपरांत मात्र 153 पेटी ही विस्फोटक बरामद हुए, अनुमान लगाया जा रहा है कि हो सकता है कि इसी वाहन से दस पेटी उक्त माल को वहां उतारा गया हो, लेकिन ग्रामीण बताते है कि शुक्रवार से लेकर आज बुधवार के दिन तक इधर भारी बारिश भी हुई थी, बारिश के कारण ये पेटियां भींगी होनी चाहिए थी, पर ये विस्फोटक से भरी पेटियां भींगी हुई नहीं हैं, जो बताता है कि कही न कही घालमेल है, जिसकी जांच होना बहुत ही जरुरी है।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

पत्रकारिता वो नहीं, जो आप करते हैं, पत्रकारिता तो वो हैं जो आनन्द कर रहा हैं, जियो आनन्द, अब 'चमकी' जरुर हारेगी

Thu Jun 20 , 2019
हां भाई, इससे अच्छा, अच्छा दिन और क्या हो सकता हैं? आपके पार्टी के कार्यकर्ता आपको पीएम बनाने के लिए जान उत्सर्ग कर दें, तो आप उनसे अपनी जनसभा के दौरान, अलग से मिले। जब आप पीएम पद की शपथ लें, तो उन्हें विशेष रुप से शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने के लिए आमंत्रित करें, और जब आपके गरीब वोटर चमकी बीमारी से मरे तो उसके लिए आपके पास समय ही नहीं,

Breaking News