रांची स्थित केतारीबगान के नवनिर्मित वृंदावनधाम में श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान यज्ञ की सारी तैयारी पूरी

रांची के चुटिया स्थित एल ए गार्डेन केतारीबगान के ठीक सामने नवनिर्मित वृंदावनधाम में श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान यज्ञ एवं पंचकुंडीय महायज्ञ की आज पूरी तैयारी कर ली गई। पंचकुंडीय महायज्ञ के लिए हवन कुंडों एवं यज्ञस्थल का निर्माण कर लिया गया। श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान यज्ञ का आयोजन, भागवत सेवा समिति, अयोध्यापुरी, चुटिया की ओर से किया जा रहा है। बड़ी संख्या में इस आयोजन में जूटे श्रीमद्भागवत कथा के श्रद्धालुओं की श्रद्धा यहां देखते बन रही है।

रांची के चुटिया स्थित एल ए गार्डेन केतारीबगान के ठीक सामने नवनिर्मित वृंदावनधाम में श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान यज्ञ एवं पंचकुंडीय महायज्ञ की आज पूरी तैयारी कर ली गई। पंचकुंडीय महायज्ञ के लिए हवन कुंडों एवं यज्ञस्थल का निर्माण कर लिया गया। श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान यज्ञ का आयोजन, भागवत सेवा समिति, अयोध्यापुरी, चुटिया की ओर से किया जा रहा है। बड़ी संख्या में इस आयोजन में जूटे श्रीमद्भागवत कथा के श्रद्धालुओं की श्रद्धा यहां देखते बन रही है।

भागवत सेवा समिति के आयोजकों ने विद्रोही 24. कॉम को बताया कि कल 15 मई को अपराह्ण 3 बजे से श्रीमद्भागवत पोथीजी की शोभायात्रा निकाली जायेगी। यह शोभायात्रा चुटिया स्थित श्रीराम मंदिर से प्रारंभ होगी, जो अपर चुटिया होते हुए कथा स्थल वृंदावनधाम को जायेगी। इसमें बड़ी संख्या में महिलाओं एवं पुरुषों का जुटान होगा, जिसकी शोभा देखते बनेगी।

आयोजकों ने बताया कि इस श्रीमद्भागवत ज्ञान यज्ञ को महाराष्ट्र के चंद्रपूर निवासी भागवताचार्य संत श्रीमणिषभाई जी महाराज संबोधित करेंगे तथा अपनी भक्तिमय संगीतमय भागवत कथा से श्रद्धालुओं का मार्गदर्शन करेंगे। श्रीमणिषभाई की कथा सुनने के लिए प्रतिदिन आठ से दस हजार के बीच श्रद्धालुओं का समूह उपस्थित होगा, जिनके बैठने और भागवत कथा का आनन्द लेने के लिए आयोजकों ने अच्छी व्यवस्था कर दी है।

आयोजकों ने बताया कि यह अलौकिक मांगलिक उत्सव दो चरणों में होगा। प्रथम चरण और सायं सत्र में विभक्त इन दो चरणों में श्रीमद्भागवत के विभिन्न प्रसंगों की चर्चा होगी। जिनमें कथा महात्म्य, नारद अवतार, शुकदेव प्राकट्य, वाराह अवतार, कपिल अवतार, नरसिंह अवतार, वामन अवतार, श्रीराम जन्मोत्सव, श्रीकृष्ण जन्मोत्सव, श्रीकृष्ण बाललीला एवं दही हांडी, अन्नकुट छप्पनभोग, महारास उत्सव, श्रीकृष्ण रुक्मिणी विवाह, सुदामा चरित, परिक्षीत मोह कथा का भक्तों को श्रवण कराया जायेगा।

आयोजकों ने कहा 23 मई को पंचकुंडीय महायज्ञ की पूर्णाहूति कर दी जायेगी, तथा उसी दिन श्रीमद्भागवत कथा के महाप्रसाद का वितरण भी कर दिया जायेगा। श्रीमद्भागवत कथा आयोजन समिति अयोध्यापुरी के सभी सदस्यों ने रांचीवासियों से अपील की है कि इस आयोजन का लाभ उठाएं क्योंकि ऐसा आयोजन बार-बार नहीं होता, इस ईश्वरीय कृपा एवं आनन्द का सभी मिलकर लाभ उठाएं।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

कांग्रेस अपने अंदर झांके कि लाख बुराइयों के बावजूद जनता भाजपा को वोट क्यों दे रही?

Tue May 15 , 2018
मतदाताओं को दोष मत दीजिये, स्वीकार कीजिये कि जनता की नजरों में आज भी आप ग्राह्य नहीं हो रहे, उन कारणों को ढूंढिये, कि आखिर लोकसभा के उपचुनावों में जो जनता भाजपा को ठुकरा रही है, वहीं विभिन्न राज्यों की विधानसभा चुनावों में स्पष्ट बहुमत उसे कैसे थमा दे रही है? ये कहना कि आप बेहतर कर रहे हैं, अच्छा प्रशासन दे रहे हैं, फिर भी जनता आपको ठुकरा रही हैं, इसका मतलब जनता चाहती ही नहीं कि उन्हें बेहतर शासन मिले,

Breaking News