“शहर में बिजली फुल” कह, CM का जय-जय करनेवाला “प्रभात खबर” बताएं, क्या NOP रांची में नहीं

बिजली के मुद्दे पर, रांची के संभ्रांत नागरिक  झारखण्ड के मुख्यमंत्री, जेबीवीएनएल और दैनिक अखबारों के संपादकों से खासे नाराज हैं। इन नागरिकों का कहना है कि रांची में अभी भी बिजली में कोई सुधार नहीं हैं। मुख्यमंत्री का डेडलाइन एक बार फिर पूर्व की तरह ढपोरशंख ही साबित हुआ, क्योंकि उन्होंने कहा था कि 31 जुलाई तक रांची में जीरो पावर कट बिजली रहेगा, पर रांची में अभी भी बिजली उसी तरह कट रही है, जैसे पहले कटती थी, लेकिन अखबारवाले, जेबीवीएनएल वाले, और झारखण्ड के मुख्यमंत्री तीनों एक दूसरे के प्रति इस प्रकार प्रेम प्रदर्शित कर रहे हैं, जिससे लगता है कि इनका जनता से कोई मतलब नहीं, सिर्फ ये अपनी उल्लू सीधा करने में लगे हैं।

आज ही झारखण्ड सिविल सोसाइटी से जुड़े आरपी शाही ने ट्विट किया – “झारखण्ड के ऊर्जा मंत्री, जेबीवीएनएल और दैनिक अखबार के संपादकों। आप तीनों ने 31 जुलाई को बहुत महत्वपूर्ण दिन बताया था। 1/8 से बिजली कट नहीं। यहां तो 1/8, 2/8 और 3/8 यानी तीनों दिन आठ घंटे से अधिक बिजली नार्थ आफिस पाड़ा में कटी। शहर में यह हाल? सब एक दूसरे के लिए काम करें, जनता जाए भांड में।

यही नहीं आरपी शाही ने झारखण्ड सिविल सोसाइटी के फेसबुक पेज पर भी बिजली की दुर्दशा पर अपनी वेदना जाहिर कर दी है। उन्होंने विद्रोही24.कॉम में छपे एक समाचार का हवाला देते हुए पोस्ट शेयर किया है। जिसमें उन्होंने लिखा है “There is complete collapse of power system in Jharkhand but CM cum minister of power is using public money to please media and cover up bad performance. Power cut even after strict order by minister is worsened. 8-9 hrs cut in NOP doranda on 1 to 3 august and power off today since morning 10.”

आश्चर्य इस बात की हो रही है कि जनता बिजली को लेकर परेशान है, रांची शहर हो या गांव सभी जगह बिजली के लिए मारामारी है, पर अखबारों को देखें, तो उनको हर जगह हरियाली दिख रही है। राजधानी रांची को अगर छोड़ दें, तो दूसरे जगह की हालत तो इससे भी ज्यादा बदतर है, पर अखबार को देखिये तो राज्य के मुख्यमंत्री में नूर ही नजर आता है, ऐसे में जनता अगर आक्रोशित हैं और अखबारों, जेबीवीएनएल एवं राज्य के मुख्यमंत्री पर अपना गुस्सा प्रकट कर रही हैं तो क्या गलत कर रही?

हम आपको यह भी बता दें कि इस समाचार को लिखे जाने के क्रम में कृष्णापुरी चुटिया में अभी-अभी 16. 20 बजे बिजली गायब हो गई, और यह कब आयेगी, कुछ कहा नहीं जा सकता, पर अखबारों को जब देखिये तो रांची में सब कुछ ठीक ही नजर आ रहा है, पता नहीं ये लोग कौन सी चश्में पहनकर, समाचार लिखते/प्रकाशित करते हैं, अरे जो भी लिखो, सच तो लिखो, जिससे आपकी विश्वसनीयता बनी रहे, नहीं तो आप ये क्यों नहीं समझते, कि जिस दिन आपकी विश्वसनीयता पर बट्टा लग गया, आप कुछ भी करते रहे, आपका सम्मान जनता की नजरों में दो कौड़ी से ज्यादा की नहीं रहेगी।