धनबाद प्रेस क्लब के अध्यक्ष बने संजीव कुमार झा, महासचिव बने पंकज कुमार

धनबाद प्रेस क्लब का चुनाव संपन्न होने के बाद, आज हुई मतगणना के सभी परिणाम सामने आ गये। अध्यक्ष पद पर संजीव कुमार झा निर्वाचित हुए, उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी रामजी यादव को 25 मतों से पराजित किया। वरीय उपाध्यक्ष के पद पर नीतेश कुमार मिश्र, महासचिव के पद पर पंकज कुमार, उपाध्यक्ष पद पर गंगेश गुंजन, नवीन राय, श्रवण कुमार, अभिषेक कुमार एवं सुधीर कुमार, सचिव के पद पर रविकांत झा,

धनबाद प्रेस क्लब का चुनाव संपन्न होने के बाद, आज हुई मतगणना के सभी परिणाम सामने आ गये। अध्यक्ष पद पर संजीव कुमार झा निर्वाचित हुए, उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी रामजी यादव को 25 मतों से पराजित किया। वरीय उपाध्यक्ष के पद पर नीतेश कुमार मिश्र, महासचिव के पद पर पंकज कुमार, उपाध्यक्ष पद पर गंगेश गुंजन, नवीन राय, श्रवण कुमार, अभिषेक कुमार एवं सुधीर कुमार, सचिव के पद पर रविकांत झा, आशीष अम्बष्ठ, जीतेन्द्र कुमार, विद्युत एवं आशीष झा, जबकि कार्यकारिणी में प्रतीक कुमार पोपट, प्रद्युम्न चौबे, अशोक झा, नीरज अम्बष्ठ, मोहन, राममूर्ति पाठक एवं चंदन पॉल निर्वाचित घोषित किये गये।

झारखण्ड के सभी पत्रकारों और पत्रकार संगठनों से जुड़े लोगों की नजर धनबाद प्रेस क्लब के चुनाव पर थी। धनबाद प्रेस क्लब का शांतिपूर्वक चुनाव और मतगणना सारे पत्रकारों को एक प्रकार का संदेश दे गया कि चुनाव कैसे कराये जाते हैं? और उसका मकसद क्या होता है? एक बार फिर, हम कहना चाहेंगे कि रांची प्रेस क्लब के मठाधीशों को धनबाद प्रेस क्लब के इन छोटे-छोटे बच्चों से सीख लेनी चाहिए, जिन्होंने अपने यहां लोकतंत्र को प्रतिष्ठित किया, तथा सारे मतभेदों को बुलाकर देखते ही देखते चुनाव भी करा लिया और अपनी जिम्मेदारी का निर्वहण करना भी प्रारंभ किया।

झारखण्ड के विभिन्न संगठनों, राजनीतिक दलों एवं स्वयंसेवी संस्थाओं ने धनबाद प्रेस क्लब के सभी निर्वाचित प्रतिनिधियों को शुभकामनाएं दी है, साथ ही आशा व्यक्त की है कि धनबाद प्रेस क्लब पत्रकार ही नहीं, बल्कि समाज के अन्य वर्गों के प्रति भी अपनी जिम्मेदारी का निर्वहण ठीक ढंग से करेगा।

 

Krishna Bihari Mishra

Next Post

न रेलयात्रियों को और न ही परीक्षार्थियों को परेशानी, रांची जं. पर RPF-GRP ने संभाली कमान

Mon Dec 11 , 2017
बहुत दिनों के बाद, रांची जंक्शन पर देखने को मिला कि न तो परीक्षार्थियों को परेशानी हो रही थी और न ही रेलयात्रियों को। आरपीएफ और जीआरपी ने पूरी तरह से कमान संभाल लिया था। परीक्षार्थियों को सेफ जर्नी करने की हिदायत दी जा रही थी, कहीं कोई ऐसी गतिविधियां नहीं दिखी, जिस पर आप अंगूली उठा सकें, चूंकि कल आइआरबी की परीक्षा थी, विभिन्न सुदुरवर्ती इलाकों से लाखों की संख्या में परीक्षार्थी रांची पहुंचे थे।

Breaking News