हजारीबाग के बरकट्ठा में रघुवर के खिलाफ भड़का जनाक्रोश, CM की होर्डिंग और BJP के झंडे में लगाई आग

आज झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुवर दास अपनी जोहार जन आशीर्वाद यात्रा को लेकर हजारीबाग में थे। उनका हजारीबाग में कई जगहों पर कार्यक्रम था। इसी दरम्यान बरकट्ठा में भी उनके कार्यक्रम आयोजित थे। जिसको लेकर बरकट्ठा के कई जगहों पर बड़े पैमाने पर जनाक्रोश देखा गया। क्रुद्ध युवाओं का दल सड़क से गुजर रहे भाजपाइयों की गाड़ियों में लगे भाजपाई झंडों को उखाड़ कर फेंक रहा था,

आज झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुवर दास अपनी जोहार जन आशीर्वाद यात्रा को लेकर हजारीबाग में थे। उनका हजारीबाग में कई जगहों पर कार्यक्रम था। इसी दरम्यान बरकट्ठा में भी उनके कार्यक्रम आयोजित थे। जिसको लेकर बरकट्ठा के कई जगहों पर बड़े पैमाने पर जनाक्रोश देखा गया। क्रुद्ध युवाओं का दल सड़क से गुजर रहे भाजपाइयों की गाड़ियों में लगे भाजपाई झंडों को उखाड़ कर फेंक रहा था, तथा कई भाजपाई मोटरसाइकिल सवारों को भी उन्होंने अपने गुस्से का निशाना बनाया।

क्रुद्ध युवा सड़कों पर लगे सीएम रघुवर की होर्डिंग पर डंडे बरसा रहे थे। उनके द्वारा होर्डिंगों को उखाड़ा एवं फाड़ा जा रहा था, तथा बाद में क्रुद्ध युवाओं ने उन होर्डिंगों में आग भी लगा दी। इस दौरान क्रुद्ध युवा रघुवर दास मुर्दाबाद, जानकी यादव मुर्दाबाद के नारे भी लगा रहे थे। जब क्रुद्ध युवा सीएम रघुवर के होर्डिंग में आग लगा रहे थे, तब उनका गुस्सा केवल और केवल सीएम रघुवर दास पर था, क्योंकि जब आग की लपटें, होर्डिग में बने नरेन्द्र मोदी के चित्र की ओर जा रही थी, तब क्रुद्ध युवाओं का कहना था कि देखो मोदी न जलने पाये, मोदी को बचाना है, रघुवर को बर्दाश्त नहीं करना है।

इधर हजारीबाग में आयोजित जनसभा में भी कई भाजपा कार्यकर्ताओं की नाराजगी देखी गई, जिस पर सीएम रघुवर दास अपने स्वाभावानुसार भड़क गये, जिसको लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं में गुस्सा देखा जा रहा हैं, सूत्र बता रहे है कि यह दूसरा मौका है, जब रघुवर दास भाजपा कार्यकर्तांओं को अपना निशाना बना रहे हैं, संथाल परगना के दौरे पर भी जब मुख्यमंत्री थे, तब एक सभा के दौरान उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं को डांट दिया था, जब वे अपने नेता निशिकांत दूबे के पक्ष में नारे लगा रहे थे।

राजनीतिक पंडितों की मानें, तो भाजपा मे रघुवर दास एकमात्र नेता हैं, जिन्हें अपनी सभा में खुद के सिवा दूसरे नेताओं के जिन्दाबाद के नारे उन्हें पसन्द नहीं और जो भाजपा कार्यकर्ता दूसरे नेताओं के पक्ष में जिन्दाबाद के नारे लगाता है, वे उस पर टूट पड़ते हैं, जैसा कि संथाल परगना के दौरे पर देखा गया था, जिसकी विडियो आज भी खूब वायरल हो रही हैं।

राजनीतिक पंडित मानते है कि अगर इसी प्रकार रघुवर दास का विरोध होता रहा, और सीएम रघुवर दास अपने ही कार्यकर्ताओं पर बरसते रहे, तो जो लोग अभी अबकी बार 65 पार का ख्वाब देख रहे हैं, उन्हें पच्चीस पर आकर ही संतोष करना पड़ेगा, क्योंकि स्थिति अब भयावह होती जा रही हैं, पहले संथाल परगना और अब हजारीबाग में सीएम के प्रति भाजपा कार्यकर्ताओं की नाराजगी बता रही हैं कि भाजपा में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

निःशुल्क एंबुलेस को लेकर अपना पीठ थपथपा रहे CM रघुवर को हिन्दुस्तान ने दिखाया आइना

Tue Oct 15 , 2019
कल यानी 14 अक्टूबर को झारखण्ड के अति होनहार मुख्यमंत्री रघुवर दास और देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के फोटो के साथ राज्य के सभी प्रमुख अखबारों के मुख्य पृष्ठ पर फुल पेज कलर में सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के द्वारा स्वास्थ्य विभाग के सौजन्य से एक विज्ञापन प्रकाशित करवाया गया था, जो राज्य में बेहतर एंबुलेंस सेवा को समर्पित था, आखिर क्या था, उसमें?

You May Like

Breaking News