सुचित्रा मिश्रा के परिजनों के साथ BJP कार्यालय में हुए दुर्व्यवहार पर परशुराम सेना ने भाजपाइयों को चेताया

रांची भाजपा प्रदेश कार्यालय में स्व. सुचित्रा मिश्रा के परिजनों के साथ हुए दुर्व्यवहार, मारपीट व आपत्तिजनक व्यवहार की आग पलामू प्रमंडल भी पहुंच गई। पलामू के गढ़वा में कई ब्राह्मण समुदाय ने इस घटना की कड़ी निन्दा की, तथा भाजपा के शीर्षस्थ नेताओं को यह कहकर चेताया कि वे ब्राह्मण समुदाय के साथ गलत करना बंद करें, अपमान करना बंद करें।

रांची भाजपा प्रदेश कार्यालय में स्व. सुचित्रा मिश्रा के परिजनों के साथ हुए दुर्व्यवहार, मारपीट व आपत्तिजनक व्यवहार की आग पलामू प्रमंडल भी पहुंच गई। पलामू के गढ़वा में कई ब्राह्मण समुदाय ने इस घटना की कड़ी निन्दा की, तथा भाजपा के शीर्षस्थ नेताओं को यह कहकर चेताया कि वे ब्राह्मण समुदाय के साथ गलत करना बंद करें, अपमान करना बंद करें।

परशुराम सेना ने तो यहां तक कहा कि गढ़वा में जिस प्रकार मुख्यमंत्री रघुवर दास ने ब्राह्मणों को अपमानित करने का काम किया, अब उनके लोग भी ब्राह्मण समुदाय का अपमान करने में कुछ ज्यादा रुचि लेने लगे हैं, परशुराम सेना इसे बर्दाश्त नहीं करेगी। परशुराम सेना आक्रोश स्वरुप भाजपा प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा का शवयात्रा भी निकाला।

लोग बता रहे है कि स्व. सुचित्रा मिश्रा के परिजनों के साथ कुछ दिन पहले रांची स्थित भाजपा कार्यालय में हुई मारपीट के खिलाफ परशुराम सेना ने शुक्रवार को काली मंदिर परिसर से रंका मोड़ तक भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा की शव यात्रा निकाली। शवयात्रा में शामिल सेना के सदस्य रंका मोड़ पहुंचकर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष का पुतला दहन किया। 

पुतला दहन के बाद परशुराम सेना के नेताओं ने कहा कि स्व. सुचित्रा मिश्रा के हत्यारे शशि भूषण मेहता को भाजपा गोद में बैठा कर ब्राह्मण समाज का अपमान कर रही है। लोगों से भरी सभा में स्व. सुचित्रा की भाभी और उसके दोनों बच्चों को अपने कार्यकर्ताओं से प्रदेश कार्यालय में पिटवा कर भाजपा ने यह साबित कर दिया कि वह रघुवर दास के नक्शे कदम पर चल रही है।

परशुराम सेना के नेताओं ने कहा कि जिस तरह से मुख्यमंत्री रघुवर दास ने गढ़वा में आकर ब्राह्मणों के विरोध में अपशब्द बोला था। ठीक उसी प्रकार उनके नक्शे कदम पर कार्यकर्ता भी चलना शुरू कर दिये हैं। परिणामस्वरूप एक महिला को सरेआम पीटा गया और अपमानित किया गया। जब महिला के साथ ये गलत कार्य हो रहे थे, तब उक्त घटना के समय भाजपा के शीर्षस्थ नेता मंच पर बैठकर मूकदर्शक बने रहे।

प्रदेश कार्यालय की घटना से ऐसा प्रतीत हो रहा था मानो महाभारत का दूसरा चीरहरण हो रहा है। परशुराम सेना उसकी कड़ी निंदा करता है। मौके पर परशुराम सेना के जिला अध्यक्ष अभिषेक तिवारी, शशिकान्त तिवारी, नवीन तिवारी, नवलेश धर दुबे, टुनटुन दुबे, अमन चौबे, राकेश दीक्षित, ब्राह्मण युवा मोर्चा के मुकेश दीक्षित, सचिन दुबे, राहुल धर दुबेबलराम पांडेय, गौरव तिवारी, प्रकाश तिवारी, अनिमेष तिवारीउमाशंकर दुबे सहित अन्य लोग शामिल थे।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

शशिभूषण का BJP में शामिल होना बताता हैं कि भाजपा बलात्कारियों और हत्यारों की पार्टी - ऐपवा

Sat Oct 5 , 2019
भाकपा माले की महिला इकाई ऐपवा की रांची नेतृ आईती तिर्की ने सुचित्रा मिश्रा के हत्या के आरोपी शशिभूषण मेहता को भाजपा में शामिल करने की घटना की कड़ी निन्दा की है। आईती तिर्की ने आज संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि यह घटना स्पष्ट करती है भाजपा में महिलाओं की कोई इज्जत ही नहीं, यानी आज की स्थिति को देख हम स्पष्ट रुप से कह सकते है कि भाजपा बलात्कार व हत्या करनेवाले लोगों की शरणस्थली बन गई है।

You May Like

Breaking News