मथुरा महतो का दावा, JMM के नेतृत्व में कोयलांचल की सभी सीटों पर महागठबंधन मजबूत स्थिति में

झारखण्ड में महागठबंधन को लेकर अब कोई किन्तु-परन्तु नहीं हैं। महागठबंधन में शामिल सभी दलों को पता है कि झारखण्ड में महागठबंधन में सबसे बड़ा दल अगर कोई है तो वह है झारखण्ड मुक्ति मोर्चा और उसको अब कोई नजरदांज या नाराज कर नहीं चल सकता, इसलिए एक तरह से भले ही उपर-उपर कोई भी दल कुछ भी बयान दे दें, पर किसी की हिम्मत नहीं कि झामुमो या उसके नेता हेमन्त सोरेन को नाराज कर दें,

झारखण्ड में महागठबंधन को लेकर अब कोई किन्तु-परन्तु नहीं हैं। महागठबंधन में शामिल सभी दलों को पता है कि झारखण्ड में महागठबंधन में सबसे बड़ा दल अगर कोई है तो वह है झारखण्ड मुक्ति मोर्चा और उसको अब कोई नजरदांज या नाराज कर नहीं चल सकता, इसलिए एक तरह से भले ही उपर-उपर कोई भी दल कुछ भी बयान दे दें, पर किसी की हिम्मत नहीं कि झामुमो या उसके नेता हेमन्त सोरेन को नाराज कर दें, क्योंकि इसका खामियाजा स्वयं कांग्रेस पिछले विधानसभा चुनाव में भुगत चुकी है, और वह अब नहीं चाहती कि इस बार भी खामियाजा भुगते।

शायद यहीं कारण है कि कांग्रेस की तरफ से कोई बयानबाजी सुनने को नहीं मिल रही, हां झाविमो के लोग कुछ मुद्दे पर मतभिन्नता दिखा चुके हैं, हालांकि कुछ मुद्दों पर वे भी हेमन्त सोरेन के काफी नजदीक है, इधर इन सभी बातों से बेखबर, धनबाद के अतिलोकप्रिय व जमीन से जुड़े झामुमो के नेता मथुरा प्रसाद महतो महागठबंधन की मजबूती में लगे हैं, उनका कहना है कि इस बार महागठबंधन पूरे कोयलांचल में अपनी शानदार उपस्थिति दर्ज करेगा, क्योंकि यहां कोई किन्तु-परन्तु नहीं हैं, सभी मिलकर महागठबंधन को मजबूत करने में लगे हैं।

मथुरा प्रसाद महतो ऐसे भी हेमन्त सोरेन मंत्रिमंडल में भूमि सुधार एवं राजस्व मंत्रालय संभाल चुके हैं, जिनके कार्यों की तारीफ सभी ने की हैं। मथुरा प्रसाद महतो विद्रोही24.कॉम से बातचीत में कहते हैं कि वर्तमान में राज्य की रघुवर सरकार अपनी ही क्रियाकलापों से झारखण्ड़ की जनता के बीच इतनी अलोकप्रिय हो चुकी है, कि उन्हें या उनकी पार्टी को जनता के सामने जाकर, कुछ भी कहने या बोलने की जरुरत नहीं है, जनता सब देख रही है कि ये सरकार किस प्रकार जनहित से जुड़ी योजनाओं में आग लगाकर, बड़े-बड़े कारपोरेट घरानों के कामों में दिलचस्पी ले रही हैं।

मथुरा प्रसाद महतो बताते हैं कि उन्हें इस बात की खुशी है कि राज्य के सभी प्रमुख विपक्षी दल इस बात को लेकर एकमत है कि राज्य और केन्द्र से भाजपा सरकार को चला जाना चाहिए, पर इसके लिए सभी में एकता जरुरी है, एकता के अभाव के कारण ही सांप्रदायिक शक्तियां मजबूत स्थिति में चली जाती है, अगर हम सभी एक रहे तो स्थिति ये हो जाये कि भाजपा एक-एक सीट के लिए तरस जाये।

मथुरा प्रसाद महतो बताते है कि झारखण्ड की जनता भाजपा-आजसू गठबंधन सरकार से त्राहिमाम कर रही हैं, ऐसे में जनता भी संकल्प ले चुकी है कि राज्य को हेमन्त सोरेन जैसा मुख्यमंत्री चाहिए, जो अब लगता है कि अब औपचारिकता मात्र रह गया है, मथुरा प्रसाद महतो ने विद्रोही24.कॉम को बताया कि वे फिलहाल कोयलांचल में सक्रिय है और जल्द ही महागठबंधन की मजबूती, कोयलांचल में दीखेगा, जब कोयलांचल से जुड़ी सभी लोकसभा व विधानसभा की सीटों पर महागठबंधन का कब्जा होगा और इसमें प्रमुख भूमिका झामुमो की होगी।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

अपने होनहार मुख्यमंत्री रघुवर दास झारखण्ड की जनता को इतना बेवकूफ क्यों समझते हैं?

Sun Jan 20 , 2019
लगता है कि अपने राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास को किसी ने बहुत अच्छे तरीके से समझा दिया कि अगर आप एक झूठ को हजार बार बोले तो अंततः वह हजार बार बोला गया झूठ, सत्य साबित हो जाता है, शायद यहीं कारण है कि वे विभिन्न जनसभाओं में लगातार झूठ बोलकर कीर्तिमान बनाने की ओर अग्रसर है। लगता है कि मुख्यमंत्री को ये बतानेवाला यह नहीं बताया कि...

Breaking News