देश भर के भाजपा से जुड़े जनजातीय नेताओं का महाकुंभ 23-24 अक्टूबर को राँची में, आदिवासियों की संस्कृति, परम्परा व परिधानों की दिखेगी झलक

भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यसमिति बैठक 23-24 अक्टूबर को रांची में होगी। उससे एक दिन पूर्व 22 अक्टूबर की शाम मोर्चा राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक होगी। रांची स्थित कार्निवाल बैंक्वेट हॉल में आयोजित प्रेस वार्ता  करते हुए भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा राष्ट्रीय अध्यक्ष सह सांसद समीर उरांव ने कहा कि यह झारखंड राज्य के लिए सौभाग्य है कि भाजपा झारखंड इकाई को राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक करने का अवसर प्राप्त हुआ है।

उन्होंने कहा कि देश भर से आये देश भर के आदिवासियों की संस्कृति, पारंपरिक परिधान की यहां झलकियां दिखेंगी। झारखंडी जनजाति संस्कृति, पारंपरिक नाच-गान, भोजन के साथ अतिथियों का स्वागत किया जाएगा। उन्होंने कहा कि उक्त कार्यसमिति बैठक में देश भर के जनजाति समाज के सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक सहित कई प्रमुख मुद्दो पर चर्चा की जाएगी।

उन्होंने कहा कि देश भर के जनजाति समुदाय के बीच भाजपा एसटी मोर्चा के संगठनात्मक संरचना के आधार पर पार्टी के विस्तार पर चर्चा की जाएगी। उन्होंने कहा कि देश भर के जनजाति समाज के वीर क्रांतिकारी महापुरुषों के द्वारा किये गए देश एवं समाज के प्रति किए गए कार्यो पर चर्चा होगी।

उन्होंने कहा कि सात सत्रों में चलने वाली बैठक में राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष, राष्ट्रीय संगठक वी सतीश, केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश, नेता विधायक दल सह पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास, संगठन महामंत्री धर्मपाल सिंह, पूर्व मंत्री सह पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष जुएल उरांव, मोर्चा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविचार नेताम सहित भारत सरकार के सभी जनजाति केंद्रीय मंत्री, देश भर के 46 जनजाति सांसद, राष्ट्रीय पदाधिकारी एवं कार्यसमिति सदस्यगण शामिल होंगे।

उन्होंने कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इस दो दिवसीय कार्यसमिति बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा उद्घाटन सत्र में मुख्य रूप से शामिल होंगे। प्रेस वार्ता में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद दीपक प्रकाश, एसटी मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष शिवशंकर उरांव, मीडिया सह प्रभारी अशोक बड़ाईक उपस्थित थे।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

गुमला में दस युवकों द्वारा दो नाबालिगों के साथ दुष्कर्म की घटना झारखण्ड के लिए कलंक

Mon Oct 18 , 2021
ये समाचार झारखण्ड के माथे का कलंक है। कलंक उन पुलिसकर्मियों के लिए भी, जिनके क्षेत्र में ऐसी घटना घटी। कलंक उस समाज के लिए भी जहां इस प्रकार के दैत्य खूलेआम घूम रहे हैं और जीवित है। हमें याद है कि जब हमने रांची में रहकर पत्रकारिता के दौरान […]

You May Like

Breaking News