1932 का खतियान किसी भी हालत में स्वीकार्य नहीं, 15 नवम्बर 2000 कट ऑफ डेट तय हो, प्रशासन भय दिखाना बंद करे – कैलाश

1932 का खतियान के विरोध को लेकर झारखण्ड नवनिर्माण मंच के तत्वावधान में एक महत्वपूर्ण बैठक रांची के हरमू स्थित जमुनानगर में संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता मंच के अध्यक्ष कैलाश यादव ने किया। बैठक में उपस्थित लोगों द्वारा राज्य में हेमन्त सरकार द्वारा 1932 खतियान आधारित स्थानीय नीति के प्रस्ताव का विरोध किया गया और 15 नवंबर 2000 कट ऑफ डेट स्थानीय नीति लागू करने की मांग की गई।

बैठक में सभी ने एकस्वर से कहा कि किसी भी हालत में 1932 स्थानीय नीति स्वीकार्य नहीं की जायेगी। इसके खिलाफ अगर कोई भी कुर्बानी देना पड़े, सभी एकजुटता के साथ इसके लिए तैयार रहेंगे। मंच के नेता कैलाश यादव ने कहा कि महागठबंधन सरकार ने 1932 खतियान का प्रस्ताव लाकर राज्य के 80 फीसदी आबादी के साथ धोखा दिया है।

उन्होंने कहा कि समर्थन दे रहे सरकार में शामिल कांग्रेस और राजद को भी इसकी बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी। इसलिए एक बड़े जनांदोलन के लिए मंच द्वारा लगातार जनजागरण अभियान के तहत विभिन्न क्षेत्रों में बैठक कर लोगों को जागरूक करने का काम किया जा रहा है। कैलाश यादव ने कहा की जब से हमने 1932 खतियान का विरोध करने का आधिकारिक ऐलान किया है, उसी दिन से लगातार सरकार के द्वारा मुझ पर प्रशासनिक दबाव बनाने की कोशिश की जा रही है।

सर्वविदित है कि विगत दिनों 1932 के खिलाफ व्यापक आंदोलन चलाने के लिए विगत 18 सितम्बर को झारखंड नवनिर्माण मंच का निर्माण किया गया है, लेकिन उसी समय घोषणा के दरम्यान रांची अनुमंडल न्यायालय की ओर से उन्हें और उनके छह साथियों को व्हाट्सएप पर 107 का नोटिस भेज दिया जाता है। लेकिन वे सरकार और प्रशासन को स्पष्ट रूप से कह देना चाहते है कि उन्हें डराने की कोशिश करना बेकार है, क्योंकि 1932 खतियान आधारित स्थानीय नीति किसी भी हाल में स्वीकार्य नहीं किया जाएगा और इसके खिलाफ जनांदोलन और व्यापक होगा।

मंच के महानगर अध्यक्ष योगेंद्र शर्मा ने कहा कि हमारा नेता व अध्यक्ष कैलाश यादव बेहद साहसी व्यक्तित्व के परिचायक है। इनका राजनीतिक और सामाजिक कद बहुत ऊंचा है। कल श्री यादव 11 बजे एसडीओ न्यायालय में जायेंगे और जवाब दाखिल करेंगे। हम लोग 70-80 वर्षो से एकीकृत बिहार के समय से रांची में रह रहे हैं, अब सरकार 1932 लागू कर बेघर करने की कोशिश की जा रही है।

बैठक में सनोज मिश्रा, रामानंद शर्मा, उमेश यादव, सुबोध ठाकुर रेखा देवी, नीलू देवी, संगीता देवी, ममता देवी, सरस्वती देवी, धर्मवीर राय, चंद्रिका यादव, राम इकबाल चौधरी, चंदन कुमार, नवलकिशोर सिंह, मैनेजर राय सहित भारी संख्या में लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.