दुमका मे सीएम कैंप के समक्ष झामुमो का जबर्दस्त प्रदर्शन, नलिन सोरेन गिरफ्तार व रिहा

दुमका में झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने झामुमो विधायक नलिन सोरेन के नेतृत्व में झारखण्ड सीएनटी एवं एसपीटी एक्ट संशोधन सुझाव पर आयोजित टीएसी उपसमिति की बैठक का जबर्दस्त विरोध किया। इन झामुमो कार्यकर्ताओं ने दुमका के सीएम कैंप कार्यालय के सामने प्रदर्शन कर अपना विरोध जताया। इस दौरान स्थानीय प्रशासन ने झामुमो विधायक नलिन सोरेन समेत करीब 90 कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया और सायं समय छोड़ दिया।

दुमका में झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने झामुमो विधायक नलिन सोरेन के नेतृत्व में झारखण्ड सीएनटी एवं एसपीटी एक्ट संशोधन सुझाव पर आयोजित टीएसी उपसमिति की बैठक का जबर्दस्त विरोध किया। इन झामुमो कार्यकर्ताओं ने दुमका के सीएम कैंप कार्यालय के सामने प्रदर्शन कर अपना विरोध जताया। इस दौरान स्थानीय प्रशासन ने झामुमो विधायक नलिन सोरेन समेत करीब 90 कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया और सायं समय छोड़ दिया।

नलिन सोरेन का कहना था कि इस रघुवर सरकार पर विश्वास नहीं किया जा सकता। यह सरकार एक बार फिर यहां की जनता को ठगने का काम करने जा रही है। उनका कहना था कि रघुवर सरकार लोगों के विचार सुनने के बहाने जनता को बरगलाने का प्रयास कर रही है, जिसे झामुमो कभी सफल होने नहीं देगा। नलिन सोरेन का कहना था कि उनकी पार्टी रघुवर सरकार के इस सोच का कड़ा विरोध सदन से लेकर सड़क तक दर्ज करायेगी।

झामुमो कार्यकर्ता सीएनटी-एसपीटी एक्ट के विरुद्ध षडयंत्र करना बंद करो, जनजातीय परामर्शदातृ समिति वापस जाओ, जय झारखण्ड का नारा लगा रहे थे। इस बैठक के विरोध में पूर्व में ही झामुमो कार्यकर्ताओं ने रणनीति स्पष्ट कर दी थी कि वे इसके पक्ष में नहीं है।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

सरयू राय का एक और धमाका, खनन विभाग में 36 सौ करोड़ का घोटाला

Sat Jan 6 , 2018
संसदीय कार्य मंत्री सरयू राय ने कल चाईबासा परिसदन में पत्रकारों से वार्ता के क्रम में बताया कि अकेले पश्चिम सिंहभूम में राज्य सरकार को 36 सौ करोड़ का चूना लगा दिया गया है। आश्चर्य इस बात की है, कि इतने बड़े घोटाले पर कार्रवाई छोड़ दीजिये, जांच तक कराने की भी किसी ने जहमत नहीं उठाई। उनका कहना था कि राज्य सरकार को चाहिए कि वह इस मामले की जांच कराए और दोषी खनन अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें।

Breaking News