नगर विकास मंत्री सह भाजपा प्रत्याशी सीपी सिंह के खिलाफ झामुमो ने की निर्वाचन आयोग से शिकायत

झारखण्ड मुक्ति मोर्चा ने रांची से विधानसभा का चुनाव लड़ रहे राज्य के नगर विकास मंत्री सीपी सिंह के खिलाफ झारखण्ड के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत की है। यह शिकायत झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने की, तथा इस शिकायत की प्रतिलिपि जिला निर्वाची पदाधिकारी सह उपायुक्त रांची, मुख्य सचिव झारखण्ड एवं मुख्य निर्वाचन आयुक्त, भारत निर्वाचन आयोग, नई दिल्ली को भी प्रेषित की है।

झामुमो ने अपनी शिकायत पत्र में इस बात को उल्लिखित किया है कि राज्य के नगर विकास मंत्री एवं रांची विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी सीपी सिंह ने गत 30 नवम्बर को चुटिया के इंदिरा गांधी चौक में सड़क पर फर्नीचर की दुकान लगाकर, सड़क को अतिक्रमण कर व्यवसाय करने के क्रम में झारखण्ड सरकार अधीन रांची नगर निगम के कर्मचारियों द्वारा संबंधित अतिक्रमणकारियों के खिलाफ सरकारी प्रावधानों के अनुसार जुर्माने की राशि के साथ जब चालान काटा गया, तब उन्होंने इसे रोकने की कोशिश की।

पत्र में इस बात का जिक्र है कि नगर विकास मंत्री सीपी सिंह जो 63, रांची विधानसभा भाजपा के प्रत्याशी है, ने सरकारी काम को प्रत्यक्ष तौर पर हस्ताक्षर करते हुए निगम के जुर्माने की राशि की रसीद फाड़ते हुए किसी भी प्रकार का जुर्माना अदा करने के लिये मना किया एवं उत्पात मचा कर अपने सरकारी प्रभाव का प्रत्यक्ष प्रयोग करते हुए कानून सम्मत गठित एवं माननीय उच्च न्यायालय द्वारा निर्देशित अतिक्रमण निरोधी अभियान को रोक कर प्रबुद्ध मतदाताओं के बीच यह संदेश दिया कि यहां रांची में जो भी व्यक्ति भाजपा के पक्ष में मतदान करेंगे, उन्हें प्रत्यक्ष तौर पर किसी भी प्रकार के गैर-कानूनी काम करने का अधिकार दिया जायेगा, एवं उन पर किसी भी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की जायेगी।

झामुमो ने इस घटना की निष्पक्ष जांच कराकर भाजपा प्रत्याशी के विरुद्ध आदर्श निर्वाचन आचार संहिता के स्पष्ट उल्लंघन के तहत कार्रवाई सुनिश्चित करने की मांग की है, तथा सरकारी काम में बाधा उत्पन्न करने के लिए आवश्यक कार्रवाई के लिए संबंधित सक्षम पदाधिकारी के समक्ष संपूर्ण घटना को प्रेषित करने की मांग की है।