जय प्रकाश का अगला ठिकाना आजसू, मथुरा महतो ने कहा NDA का प्रचार यानी आत्मघाती कदम

झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व भूमि सुधार एवं राजस्व मंत्री मथुरा महतो, अपने दामाद एवं मांडू से झामुमो विधायक जय प्रकाश पटेल के कल के निर्णय से बहुत ही दुखी हैं। उनका साफ कहना है कि जय प्रकाश पटेल द्वारा ऐन चुनाव के मौके पर भाजपा समर्थित एनडीए गठबंधन का प्रचार करना आत्मघाती फैसला है। वे यह भी कहते है कि भाजपा ने गंदी राजनीति कर झामुमो परिवार में जो फूट डालने की कोशिश की हैं,

झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व भूमि सुधार एवं राजस्व मंत्री मथुरा महतो, अपने दामाद एवं मांडू से झामुमो विधायक जय प्रकाश पटेल के कल के निर्णय से बहुत ही दुखी हैं। उनका साफ कहना है कि जय प्रकाश पटेल द्वारा ऐन चुनाव के मौके पर भाजपा समर्थित एनडीए गठबंधन का प्रचार करना आत्मघाती फैसला है। वे यह भी कहते है कि भाजपा ने गंदी राजनीति कर झामुमो परिवार में जो फूट डालने की कोशिश की हैं, वह उसकी ओछी मानसिकता को ही दर्शाता है।

मथुरा महतो साफ कहते है कि भाजपा ये सोच रही हैं कि वह ऐसा कर महागठबंधन को झारखण्ड में नुकसान पहुंचाने में कामयाब हो जायेगी तो यह उसका दिवास्वप्न है। झामुमो, कांग्रेस, राजद और झाविमो का यह महागठबंधन इतना तगड़ा है कि इसका पता, 23 मई को ही पता चल जायेगा। जय प्रकाश पटेल ने तो झामुमो के साथ संबंध खराब कर अपनी राजनीति को ही प्रभावित कर लिया है, इससे ज्यादा वे कुछ नहीं कह सकते।

मथुरा महतो ने यह भी कहा कि भाजपा, झामुमो को तोड़ने में ज्यादा दिमाग न लगाकर, अपनी स्थिति मजबूत करने में लगाये,  अपने कार्यकर्ताओं को एक करने की कोशिश करें, क्योंकि यहां भाजपा कार्यकर्ताओं की एक लंबी लिस्ट झामुमो के संपर्क में हैं। उन्होंने यह भी कहा कि यहां एनडीए का जादू नहीं, बल्कि महागठबंधन का जादू चलेगा, यूपीए का यह महागठबंधन राज्य की सभी 14 सीटों पर अपनी जीत हासिल करेगा, तथा सभी की गलतफहमिंयों को भी दूर कर देगा।

वहीं इधर झामुमो विधायक जय प्रकाश पटेल ने अपने मन की करनी शुरु कर दी हैं, झामुमो विधायक रहते हुए वे कल आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो से मिले तथा उन्हें समर्थन देने की बात कह दी, सूत्र बताते है कि जय प्रकाश पटेल संभवतः अगला विधानसभा चुनाव एनडीए के समर्थन से लड़ें, कल झामुमो द्वारा दिये गये कारण बताओ नोटिस का भी वे जवाब नहीं ही देंगे। संभवतः अगला ठिकाना उनका आजसू ही होगा।

इधर झामुमो के वरिष्ठ नेता-प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कल जब यह कहा कि जिसे जरुरत से ज्यादा कोई चीजें प्राप्त हो जाती हैं,तो वह ऐसी ही हरकतें करता हैं, कहकर जय प्रकाश पटेल प्रकरण पर एक तरह से विराम ही लगा दिया, पर मथुरा महतो के आज के बयान ने साफ कर दिया कि झामुमो आज भी उसी स्थिति में हैं, जैसी कल थी, जय प्रकाश पटेल किसी भी दल का समर्थन करें या प्रचार करें, महागठबंधन या झामुमो के सेहत पर कोई असर पड़ने नहीं जा रहा, ये सभी को समझ लेना चाहिए।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुवर दास के अनुसार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की लम्बाई मात्र 56 इंच

Sat Apr 20 , 2019
जरा सोचिये, अगर आपके सामने कोई 56 इंच का व्यक्ति खड़ा हो जाये, तो उसे देखकर आप कैसा महसूस करेंगे? और वो व्यक्ति कोई और न होकर प्रधानमंत्री हो तो आप कैसा महसूस करेंगे? हालांकि भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कभी उत्तर प्रदेश के चुनावी दौरे के दौरान अपने सीने की लम्बाई 56 इंच बताई थी, जो पूरे देश में चर्चा का विषय बन गया था।

Breaking News