फिरायालाल स्कूल बस के ड्राइवर की गलती से बाल-बाल बचे मां-बेटे, नहीं तो दोनों की आज जान चली जाती

रांची के अनन्तपुर स्थित ओवरब्रिज के ठीक नीचे, एमिटी यूनिवर्सिटी के कार्यालय के ठीक सामने आज दो लोगों की जानें जाते-जाते बच गई। दरअसल हुआ यूं कि फिरायालाल पब्लिक स्कूल का ड्राइवर बड़ी तेजी से अपने बस को ड्राइव कर रहा था, जिसे देखकर वहां खड़े लोग हैरान थे, तभी यहीं पर एक मोटरसाइकिल पर सवार एक युवक, अपनी मां को लेकर, मोटरसाइकिल ड्राइव कर रहा था, जो उक्त फिरायालाल पब्लिक स्कूल के बस के चपेट में आने से बच गया।

रांची के अनन्तपुर स्थित ओवरब्रिज के ठीक नीचे, एमिटी यूनिवर्सिटी के कार्यालय के ठीक सामने आज दो लोगों की जानें जाते-जाते बच गई। दरअसल हुआ यूं कि फिरायालाल पब्लिक स्कूल का ड्राइवर बड़ी तेजी से अपने बस को ड्राइव कर रहा था, जिसे देखकर वहां खड़े लोग हैरान थे, तभी यहीं पर एक मोटरसाइकिल पर सवार एक युवक, अपनी मां को लेकर, मोटरसाइकिल ड्राइव कर रहा था, जो उक्त फिरायालाल पब्लिक स्कूल के बस के चपेट में आने से बच गया।

लोग बताते है कि एक सेकेंड की देरी होती तो दोनों अब तक मर गये होते, और इसके लिए कोई दोषी है तो फिरायालाल पब्लिक स्कूल का वो ड्राइवर जो बड़ी तेजी से यहां वाहन चला रहा था, लोग बताते है कि वहां खड़े लोगों ने इस घटना के बाद फिरायालाल पब्लिक स्कूल के बस को रोककर ड्राइवर को कड़ी डांट पिलाई तथा उसे कायदे से गाड़ी चलाने को कहा, जिस पर ड्राइवर ने सभी से माफी मांगी, इसी बीच खड़े लोगों ने युवक और उसकी मां को ढाढंस बंधाया तथा ईश्वर को धन्यवाद दिया कि उनकी कृपा से दोनों की जान बच गई।

जिस फिरायालाल पब्लिक स्कूल बस से उक्त युवक और मां की जान जाते-जाते बची, उक्त स्कूल बस का गाड़ी नंबर है – JH-01CK, 5494, इसी बीच उक्त गाड़ी में सवार स्कूल शिक्षिका ने इस घटना के लिए वहां खड़े लोगों तथा घटना की शिकार हो रहे युवक और उसकी मां से क्षमा भी मांगी, क्या स्कूल प्रबंधन ऐसे बस चालकों पर कार्रवाई करेगा? क्या यातायात पुलिस ऐसे बस ड्राइवर जो यातायात नियमों का पालन नहीं करते, उन पर कार्रवाई करेगी?

Krishna Bihari Mishra

One thought on “फिरायालाल स्कूल बस के ड्राइवर की गलती से बाल-बाल बचे मां-बेटे, नहीं तो दोनों की आज जान चली जाती

  1. हरि।।नारायण नारायण।।

Comments are closed.

Next Post

पहले बच्चों के खाने में गिरती थी छिपकली, अब कैदियों के खाने में भी गिरने लगी, घटना खूंटी कारा की, 24 बीमार, चल रहा इलाज

Wed Jul 3 , 2019
आपको याद होगा कि बिहार-झारखण्ड में बच्चों को मिलनेवाले मिड-डे मील में कई स्थानों पर भोजन में छिपकली मिलने से संबंधित समाचार पढ़ने और सुनने को मिल रहे थे और अब वो दिन दूर नहीं कि कैदियों के भोजन में भी छिपकली देखने को मिले, इसकी शुरुआत खूंटी कारा से आज हो गई, बताया जाता है कि खूंटी कारा में विषाक्त खाना खाने के बाद 24 कैदी बीमार हो गये, 

Breaking News