कांग्रेसियों ने रिम्स में हुई 12 लोगों की मौत के लिए रघुवर सरकार को जिम्मेदार बताया, पूतले फूंके

रांची रिम्स में नर्सों व जूनियर डाक्टरों की हुई हड़ताल तथा वहां व्याप्त अव्यवस्थाओं, और हड़ताल के कारण 12 लोगों की हुई मौत से दुखी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने रघुवर सरकार की आज कड़ी आलोचना की तथा इन मौतों के लिए राज्य सरकार को प्रमुख रुप से जिम्मेवार माना। भारतीय राष्ट्रीय महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष आभा सिन्हा का कहना था कि राज्य सरकारी की लापरवाही के कारण 12 लोगों की जानें गई हैं, जिसे कभी माफ नहीं किया जा सकता।

रांची रिम्स में नर्सों व जूनियर डाक्टरों की हुई हड़ताल तथा वहां व्याप्त अव्यवस्थाओं, और हड़ताल के कारण 12 लोगों की हुई मौत से दुखी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने रघुवर सरकार की आज कड़ी आलोचना की तथा इन मौतों के लिए राज्य सरकार को प्रमुख रुप से जिम्मेवार माना। भारतीय राष्ट्रीय महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष आभा सिन्हा का कहना था कि राज्य सरकारी की लापरवाही के कारण 12 लोगों की जानें गई हैं, जिसे कभी माफ नहीं किया जा सकता।

उन्होने कहा कि अगर सरकार चाहती तो इन 12 लोगों की जानें बचायी जा सकती थी, पर यहां तो सरकार नाम की कोई चीज ही नहीं, आभा सिन्हा ने कहा कि रिम्स में हुई इस घटना के खिलाफ जल्द ही स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी का घेराव किया जायेगा और उनसे इस संबंध में जवाब भी मांगा जायेगा। आज रिम्स में हुई इस अमानवीय घटनाओं को लेकर महिला कांग्रेस की अध्यक्ष आभा सिन्हा एवं प्रदेश प्रवक्ता आलोक दूबे के नेतृत्व में सैकडों कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने अलबर्ट एक्का चौक पर प्रदर्शन किया तथा रघुवर सरकार का पुतला दहन किया। पुतला दहन के दौरान ये कांग्रेसी नेता व कार्यकर्ता स्वास्थ्य मंत्री इस्तीफा दो, रिम्स में हुई मौत के जिम्मेवार सरकार होश में आओ, आदि का नारा लगा रहे थे।

प्रवक्ता आलोक दूबे का कहना था कि 24 घंटे के अंदर 12 लोगों की मौत का अगर कोई जिम्मेवार है तो वह यहां के मुख्यमंत्री रघुवर दास और स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी है, जिन्होंने समय रहते समस्याओं का समाधान करने के बजाय मरीजों को मरने के लिए छोड़ दिया। उन्होंने कहा कि जल्द ही कांग्रेस के कार्यकर्ता सड़कों पर उतरेंगे, जिसकी शुरुआत आज महिला कांग्रेस के आंदोलन से प्रारंभ हो गई। महिला कांग्रेस महानगर की अध्यक्ष पूर्णिमा सिंह ने कहा कि सरकार अपने कार्यों मे सुधार लाएं नहीं तो कांग्रेस पार्टी के आक्रोश का सामना करने को तैयार रहे।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

बिहार में राजद नेता तेजस्वी के बढ़ते राजनीतिक कद ने पलटीमार नेता नीतीश की बेचैनी बढ़ाई

Mon Jun 4 , 2018
नीतीश कुमार बेचैन है। उन्हें 2019 में लोकसभा की 25 सीटें चाहिए। वे अभी से ही एनडीए पर दबाव बनाने की राजनीति शुरु कर चुके है। उन्हें लगता है कि बिहार की जनता आज भी उन्हें उसी रुप में देख रही है, जैसा कि आज से पांच साल पहले देखा करती थी, जबकि ऐसा नहीं है। नीतीश कुमार ने बिहार की जनता का विश्वास बड़ी तेजी से खोया है।

Breaking News