रातू रोड बिजली विभाग के एसडीओ जे एन सिंह के खिलाफ कांग्रेसियों ने खोला मोर्चा, लगाये गंभीर आरोप

कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल बिजली बोर्ड के महाप्रबंधक संजय कुमार से कुसाई कालोनी डोरंडा स्थित कार्यालय में जाकर मिला, तथा रातू रोड एसडीओ जे एन सिंह को अविलम्ब वहां से हटाने की मांग को लेकर एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा गया है कि एक तरफ लोगों को निर्बाध विद्युत आपूर्ति नहीं हो रही, और दूसरी तरफ राजनीतिक कार्यकर्ताओं एवं आम लोगों के उपर मुकदमा दर्ज करा दिया जा रहा हैं।

कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल बिजली बोर्ड के महाप्रबंधक संजय कुमार से कुसाई कालोनी डोरंडा स्थित कार्यालय में जाकर मिला, तथा रातू रोड एसडीओ जे एन सिंह को अविलम्ब वहां से हटाने की मांग को लेकर एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा गया है कि एक तरफ लोगों को निर्बाध विद्युत आपूर्ति नहीं हो रही, और दूसरी तरफ राजनीतिक कार्यकर्ताओं एवं आम लोगों के उपर मुकदमा दर्ज करा दिया जा रहा हैं।

रातू रोड के एसडीओ पर आरोप है कि वे मीटर और ट्रांसफार्मर के कनेक्शन में पैसा लेते हैं,  व्यापारिक कनेक्शन में घूसखोरी करते हैं, आम जनों के साथ उनका व्यवहार अमानवीय होता है तथा संप्रदाय विशेष को लेकर इनकी टिप्पणी तल्ख होती है।

प्रतिनिधिमंडल ने महाप्रबंधक से शिकायत के लहजे में कहा कि वे जूनियर इंजीनियर से कोई मंतव्य नहीं लेते, फोन कॉल रिसीव नहीं करते, दिन भर कार्यालय से गायब रहते है और अगर कोई काम लेकर गया तो अपने एजेंट के माध्यम से सब कुछ तय करते हैं, पिछले दिनों कांग्रेस नेता सुनील सिंह के द्वारा विरोध करने पर उन्हें झूठे मुकदमे में फंसा दिया गया, ताकि क्षेत्र में खौफ बना रहे।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, ओबीसी के प्रदेश अध्यक्ष अभिलाष साहू, वरिष्ठ कांग्रेस नेता निरंजन पासवान एवं फिरोज रिजवी मुन्ना के नेतृत्व में कांग्रेसियों का प्रतिनिधिमंडल करीब एक घंटे तक कार्यालय का घेराव किया तथा ज्ञापन भी सौंपा।

कांग्रेसी नेताओं का कहना था कि राज्य में अजीबोगरीब माहौल पैदा किया जा रहा हैं, कहीं देशद्रोह का मुकदमा तो कही राजनीतिक कार्यकर्ताओं को झूठे मुकदमा में फंसाने का षड्यंत्र चल पड़ा है। आलोक कुमार दूबे ने कहा कि जे एन सिंह स्वयं चार बार जेल जा चुके हैं, अवैध तरीके से अपना साम्राज्य और व्यवसाय बढ़ा रहे हैं, ऐसे व्यक्ति को मुख्यमंत्री के विभाग में संरक्षण प्राप्त है, यह अधिकारी खूलेआम नंगा नाच कर रहा हैं।

आलोक कुमार दूबे ने कहा कि जब प्रतिनिधिमंडल महाप्रबंधक से मुलाकात कर रहा था, वहां पर भी आकर एसडीओ बदतमीजी करने लगा एवं कांग्रेस नेता फिरोज रिजवी मुन्ना के साथ समुदाय विशेष को लेकर बोलने लगा, लेकिन कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ऐसे माहौल में भी धैर्य का परिचय दिया।

इसी बीच महाप्रबंधक ने कांग्रेस पार्टी के प्रतिनिधिमंडल से बातचीत में कहा कि एक जांच कमेटी गठित की जा रही है, जो 48 घंटे के अंदर अपनी रिपोर्ट उन्हें सौंप देगा, इधर कांग्रेस जनों ने कहा कि अगर एसडीओ के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई, तो उग्र आंदोलन तय हैं। प्रतिनिधिमंडल में सुनील सिंह, राजेश चंद्र राजू, विकास कुमार, सुधीर कुमार, आर एन त्रिवेदी, उदय विश्वकर्मा, विशाल कुमार, मो. खलील, एवं संजय मुंडा मुख्य रुप से उपस्थित थे।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

सवर्णों के भारत बंद का सर्वाधिक असर बिहार और मध्य प्रदेश में, राजनीतिक दलों ने साधी चुप्पी

Thu Sep 6 , 2018
एससी-एसटी एक्ट के विरोध में सवर्णों का आज भारत बंद जारी है। भारत बंद का सर्वाधिक असर मध्यप्रदेश और बिहार में देखने को मिल रहा है। आज सबेरे से ही भारत के विभिन्न प्रान्तों में सवर्णों के साथ-साथ विभिन्न जातियों व समुदायों के युवा सड़कों पर उतरे तथा केन्द्र सरकार और विपक्षी दलों के सहयोग से लागू नये एससी-एसटी एक्ट का विरोध किया।

You May Like

Breaking News