बोकारो में ब्राह्मणों ने निकाली सीएम की शवयात्रा, भाजपा ने शुरु किया डैमेज कंट्रोल वर्क

सीएम रघुवर दास के खिलाफ ब्राह्मणों का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा। आज बोकारो में बड़ी संख्या में ब्राह्मणों ने सड़क पर उतरकर अपना आक्रोश व्यक्त किया तथा सीएम रघुवर दास का शव यात्रा निकाला। इधर ब्राह्मणों को इस गुस्से को लेकर पहली बार भाजपा ने अपना दृष्टिकोण रखा तथा इसके लिए कांग्रेस और झामुमो को जिम्मेवार ठहरा दिया।

सीएम रघुवर दास के खिलाफ ब्राह्मणों का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा। आज बोकारो में बड़ी संख्या में ब्राह्मणों ने सड़क पर उतरकर अपना आक्रोश व्यक्त किया तथा सीएम रघुवर दास का शव यात्रा निकाला। इधर ब्राह्मणों को इस गुस्से को लेकर पहली बार भाजपा ने अपना दृष्टिकोण रखा तथा इसके लिए कांग्रेस और झामुमो को जिम्मेवार ठहरा दिया।

आज विनोद ओझा और कन्हैया चंद्रशेखर पांडेय के नेतृत्व में झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुबर दास द्वारा ब्राह्मण विरोधी और अमर्यादित टिप्पणी के विरुद्ध बोकारो सेक्टर 4  गाँधी चौक से शव यात्रा निकाला गया और इसे नया मोड़ बिरसा चौक में दाह संस्कार कर दिया गया। शव यात्रा में शामिल आक्रोशित ब्राह्मणों का कहना था, सीएम अविलम्ब ब्राह्मण समुदाय से माफी मांगे, अन्यथा ब्राह्मण समुदाय शांति पूर्ण ढंग व लोकतांत्रिक तरीके से अपना आक्रोश तब तक जारी रखेगा, जब तक सीएम ब्राह्मण समुदाय से माफी नहीं मांग लेते।

इधर ब्राह्मणों के गुस्से को देखते हुए भाजपा ने डैमेज कंट्रोल करना प्रारंभ कर दिया है। गत् शुकवार को भाजपा मुख्यालय प्रभारी दीपक प्रकाश ने बयान दिया कि ब्राह्मण समाज राष्ट्रवाद में विश्वास करता है, इस समाज को एक दायरे में बांधना उचित नही है। ब्राह्मण समाज कांग्रेस और झामुमो के बहकावे में आनेवाला नहीं है। दीपक प्रकाश का बयान ऐसे समय में आया है, जब झारखण्ड का ब्राह्मण समाज सीएम रघुवर दास द्वारा गढ़वा में ब्राह्मणों के खिलाफ दिये गये बयान से मर्माहत है और आनेवाले चुनाव में भाजपा को सबक सिखाने को तैयार है।

दीपक प्रकाश का कहना था कि सीएम ने ऐसी कोई बात नहीं की, इस झूठ को कांग्रेस एवं झामुमो के लोग फैला रहे है। आज भी ब्राह्मण समाज भाजपा के साथ बड़ी मजबूती से खड़ा है। दूसरी ओर गढ़वा में आयोजित कार्यक्रम में शामिल एक बड़ा तबका स्वीकार करता है कि सीएम ने गढ़वा में ब्राह्मणों के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी की। इस अमर्यादित बयान को लेकर ब्राह्मणों ने गढव़ा में ही सीएम के खिलाफ मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में केस भी दर्ज कराया है।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

रांची में राजद नेताओं ने फिर वहीं नारा दोहराया, जेल का ताला टूटेगा, लालू यादव छूटेगा

Sun Dec 24 , 2017
जैसे जेल जाते वक्त नेताओं को न्यायालय पर भरोसा होता है, वैसे जनता को भी न्यायालय पर भरोसा हो चुका है कि देर-सबेर लालू जी जेल से अवश्य छूटेंगे, क्योकि इतिहास गवाह हैं, जैसे ब्रिटिश शासन के दौरान किसी अंग्रेज को उसके किये गुनाह की सजा यहां नहीं मिली, उसी प्रकार आजादी के बाद किसी भी भ्रष्ट नेताओं को भारत में सजा नहीं हुई, तो ऐसे में भला लालू प्रसाद को सजा कैसे हो जायेगी?

You May Like

Breaking News