CM हेमन्त का बड़ा फैसला – कंबल घोटाले मामले में ACB को दिया जांच के आदेश

279

झारखण्ड के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन ने झारक्राफ्ट, रांची द्वारा हरियाणा के पानीपत से कंबल खरीदने में हुई अनियमितताओं को देखते हुए राज्य की भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो को प्रारंभिक जांच करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। ज्ञातव्य है कि रघुवर सरकार में हुए कंबल घोटाले को लेकर झारक्राफ्ट से जुड़े अधिकारी सुर्खियों में रहे, साथ ही इसको लेकर रघुवर सरकार पर भी छीटें पड़े।

पर रघुवर सरकार पर इसको लेकर कोई फर्क नहीं पड़ रहा था, फर्क क्यों नहीं पड़ रहा था, इस पर ज्यादा दिमाग लगाने की जरुरत नहीं। सभी जानते है। ज्ञातव्य है कि कम्बल खरीदने में हुई अनियमितता के मामले में झारक्राफ्ट की तत्कालीन मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी श्रीमती रेणु गोपीनाथ पणिकर, उप महाप्रबंधक मोहम्मद नसीम अख्तर और मुख्य वित्त पदाधिकारी अशोक ठाकुर को आरोपी बनाया गया है l  

राज्य के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने उद्योग विभाग की ओर से झारक्राफ्ट द्वारा कंबल खरीद में हुई अनियमितता की विस्तृत  जांच और आरोपियों के खिलाफ अपेक्षित कार्रवाई की अनुशंसा  किए जाने के आलोक में यह निर्देश दिया है l सूत्र बता रहे है कि कि अब हेमन्त सरकार ने निश्चय कर लिया है कि लोक सेवकों के विरुद्ध पद के अपराधिक दुरुपयोग और भ्रष्टाचार के आरोप झेल रहे लोगों की प्रारंभिक जांच भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो को सौंपी जायेगी, ताकि असलियत का पता चल सकें।

Comments are closed.