बाबूलाल ने कांग्रेसी सांसद धीरज साहू के खिलाफ FIR दर्ज करने व उनके गिरफ्तारी की मांग की, साथ ही इस मुद्दे पर सदन से लेकर सड़क तक आंदोलन की धमकी दे डाली

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने आज भाजपा प्रदेश मुख्यालय में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता व राज्य सभा सदस्य धीरज साहू के खिलाफ अविलम्ब प्राथमिकी दर्ज होनी चाहिए, उनकी गिरफ्तारी भी होनी चाहिए, साथ ही उनसे कड़ाई से पूछताछ होनी चाहिए कि उनके ठिकानों से जो 300 करोड़ रुपये मिले हैं, वे किनके हैं?

बाबूलाल मरांडी ने जोर देकर कहा कि ये इतने रुपये सिर्फ धीरज साहू के नहीं हो सकते। ये सारे पैसे कांग्रेस पार्टी व इंडी गठबंधन के नेताओं से जुड़े हैं। अगर कड़ाई से धीरज साहू से पूछताछ हो गई तो सब क्लियर हो जायेगा। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी इस मुद्दे को लेकर सदन से लेकर सड़क तक आंदोलन करेगी और इसकी रुपरेखा जल्द ही तय कर आप संवाददाताओं को बता दिया जायेगा।

बाबूलाल मरांडी ने कहा धीरज साहू के ठिकानों से अब तक मिले 300 करोड़ रुपये बताने के लिए काफी है कि कांग्रेस का भ्रष्टाचार से कितना गहरा संबंध रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों जब ईडी ने झारखण्ड के कई स्थानीय नेताओं के ठिकानों पर छापेमारी की थी तो उस वक्त भी कई करोड़ रुपये मिले थे।

उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन पर आरोप लगाया कि इस दौरान मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने उन पैसों को बिहार के मुजफ्फरपुर व ओड़िशा आदि स्टेटों में हस्तांतरित किया था। धीरज साहू के ठिकानों से मिला पैसा पूरा स्कैम का पैसा है, वही पैसे आज प्राप्त हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें यह भी पता चला कि ये भ्रष्ट लोग भारी संख्या में सोना भी जमीन में छुपा कर रखा है। इन स्कैम के पैसों से इन भ्रष्ट कांग्रेसियों और इंडी गठबंधन से जुड़े नेताओं का समूह कई जगहों पर नामी-बेनामी संपत्ति अर्जित कर चुका है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तो साफ कहते हैं कि वे न तो खायेंगे और न खाने देंगे। भ्रष्टाचारियों पर कड़ा प्रहार करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री ईडी के बार-बार बुलाने पर क्यों नहीं पहुंच रहे हैं, वो पता लग चुका है, ये स्वयं को कानून से उपर मानते हैं, लेकिन ये अब बचनेवाले नहीं हैं। भाजपा जल्द ही अब इन सारे मामलों को लेकर राज्य में एक जबर्दस्त आंदोलन खड़ा करेगी।