अमित शाह की फिसली जुबान, येदियुरप्पा को भ्रष्टाचार में नंबर वन बता दिया

तो क्या भाजपा का समय ढलान पर आ गया है? क्योंकि भाजपा ने आज दो बड़ी गलतियां की हैं, जिसको लेकर पूरे देश में उसकी खिंचाई हो रही है। पहली गलती देखिये – भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कर्नाटक में एक प्रेस कांफ्रेस के दौरान कह दिया कि “यदि भ्रष्टाचार में कोई प्रतिस्पर्द्धा कर ली जाये तो येदियुरप्पा सरकार को इस प्रतियोगिता में नंबर वन स्थान मिल जायेगा।”

तो क्या भाजपा का समय ढलान पर आ गया है? क्योंकि भाजपा ने आज दो बड़ी गलतियां की हैं, जिसको लेकर पूरे देश में उसकी खिंचाई हो रही है। पहली गलती देखिये – भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कर्नाटक में एक प्रेस कांफ्रेस के दौरान कह दिया कि “यदि भ्रष्टाचार में कोई प्रतिस्पर्द्धा कर ली जाये तो येदियुरप्पा सरकार को इस प्रतियोगिता में नंबर वन स्थान मिल जायेगा।” और दूसरी गलती भाजपा के आइटी हेड अमित मालवीय ने चुनाव आयोग के खुलासे के पूर्व ही कर्नाटक विधानसभा चुनाव के तिथि की घोषणा कर दी, जिससे पार्टी की हालत पस्त हो गई है।

भाई नेता तो नेता है, यहां इनकी जुबां फिसल गई और अपनी ही पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तथा अपनी पार्टी का इन्होंने संवाददाताओँ के सामने कबाड़ा निकाल दिया, यानी जो समाचार देने के लिए उन्होंने संवाददाताओँ को बुलवाया था, संवाददाताओँ को बिना कोई सवाल पूछे, अमित शाह ऐसा बोल गये कि विरोधियों को एक प्रहार करने का अच्छा मौका मिल गया।

कांग्रेस की मीडिया सेल ने तो इस घटना को ऐसा वायरल किया, यह कहकर की कभी-कभी सच स्वतः निकल जाता है, जरा देखिये कांग्रेस की सोशल मीडिया सेल प्रभारी दिव्या स्पंदना ने  क्या लिखा, कौन जानता था कि “अमित शाह भी सच बोल सकते हैं और अमित जी हम सभी आपसे सहमत है कि बीजेपी और येदियुरप्पा सबसे भ्रष्ट है।”

कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट में लिखा कि “अब चूंकि बीजेपी आइटी सेल ने कर्नाटक चुनाव की घोषणा कर दी है तो टॉप सीक्रेट कैंपेन वीडियों भी देख लिया जाय। यह बीजेपी अध्यक्ष की ओर से उपहार है। कर्नाटक में वह कहते है येदियुरप्पा ने आज तक की सबसे भ्रष्ट सरकार चलाई है।”

Krishna Bihari Mishra

Next Post

रोशनी बनी रांची नगर निगम में निर्विरोध निर्वाचित होनेवाली एकमात्र प्रत्याशी

Tue Mar 27 , 2018
रोशनी खलखो रांची नगर निगम वार्ड 19 की निर्विरोध पार्षद बन गई है, वार्ड 19 की लगभग 21146 मतदाताओं ने उन्हें फिर से अपना पार्षद चुना है, किसी भी व्यक्ति के लिए किसी भी संस्था या किसी भी चुनाव में निर्विरोध चुना जाना सामान्य बात नहीं, यह उसकी अतिलोकप्रियता की निशानी है तथा उसके अब तक किये गये कार्यों का जनता द्वारा शानदार ढंग से किया गया अनुमोदन है।

You May Like

Breaking News