1000 दिन में शांति और सुरक्षा के CM के दावे का खुला पोल, अपराधियों ने 6 लाख दिन-दहाड़े लूटे

शांति और सुरक्षा के 1000 दिन। ये दावे है झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुवर दास के। मुख्यमंत्री रघुवर दास और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के फोटोवाला एक होर्डिंग भी वहां लगा हुआ हैं। जहां सरेआम अपराधियों ने वन विभाग के एक रेंजर से आज 6 लाख 35 हजार रुपये लूट लिये, यह इलाका हैं रांची का डोरंडा। पुलिस को पता चला, पुलिस आई और जैसा कि होता हैं, जांच शुरु हो गई।

ये कैसी जांच हैं? कब तक जांच की प्रक्रिया चलती रहेगी? अपराधी कब तक पकड़े जायेंगे? ये सवाल आम जनता को पूछने का अधिकार नहीं हैं, क्योंकि जनाब यानी झारखण्ड के राजा, जहांपनाह, मुख्यमंत्री रघुवर दास शांति और सुरक्षा के 1000 दिन का उत्सव मना रहे हैं।

अगर आप लूट गये या आपके मन की शांति खत्म हो गई या आपकी सुरक्षा को खतरा उत्पन्न हो रहा हैं, तो बस आप नरेन्द्र मोदी और रघुवर दास का ये होर्डिंग देखिये और पूर्णतः शांत हो जाइये, ये मानकर कि राज्य में अद्भुत शांति और अद्भुत सुरक्षा का माहौल हैं। अगर जहां बोले तो समझ लीजिये, दिक्कत आपको ही होगी। राज्य सरकार के लोग आपको रडार पर ले लेंगे और आपको सबक भी सिखा देंगे।

वो याद हैं न, बूटी मोड़ वाला कांड, जिस पिता की बेटी को अपराधियों ने दुष्कर्म कर, उसकी हत्या कर दी थी, जब वह पिता मुख्यमंत्री रघुवर दास से मिलने गया था, तो मुख्यमंत्री रघुवर दास ने किस प्रकार, उसकी सरेआम बेइज्जती की थी। इसलिए आप लूट गये तो लूट गये, कुछ बोलने की जरुरत नहीं। हां मुख्यमंत्री रघुवर दास ने एक जहांगीरी घंटा जिसे मुख्यमंत्री जनसंवाद केन्द्र कहते हैं। आपके लिए बना रखी है, उस केन्द्र का 181 घंटा बजा दीजिये।

अगर आपके सवाल यहां काम करनेवाले और इस पर नजर रखनेवाले साहब बहादुर के नजरों में आ गयी और वह सप्ताह के 15-20 सवालों में भगवत्कृपा से उसका समावेश हो गया, तो हो सकता है, उस पर थोड़ी चर्चा हो जायेगी, लेकिन ये सोंचेगे कि आपका लूटा हुआ धन मिल जायेगा, आपको न्याय मिल जायेगा तो आप मुगालते में हैं, इसलिए सबका साथ, सबका विकास का नारा बोलिये और स्वयं को अपराधियों के हाथों सौंप दीजिये।