क्या हुआ तेरा वादा, वो कसम वो इरादा, भाजपाई घोषणा पत्र, झूठ का महापुलिंदा, अब तो साबित हुआ

भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के तीन महीने के अंदर प्रत्येक परिवार को राशन कार्ड उपलब्ध करा दिया जायेगा, क्या सरकार बता सकती है कि क्या यह संभव हुआ है? भाजपा सरकार उत्पादन-वितरण को व्यवहारिक स्वरुप देकर उपभोक्ता वस्तुओं की सहज उपलब्धता सुनिश्चित करायेगी और कड़ाई के साथ मूल्य नियंत्रण करेगी, तो इस राज्य सरकार से पूछिये कि आज बाजार में प्याज 80 रुपये किलो कैसे बिक रही है? कौन है, उसका जिम्मेवार?

यही नहीं इस सरकार ने अपने घोषणा पत्र में दावा किया था कि…

  • भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के तीन महीने के अंदर प्रत्येक परिवार को राशन कार्ड उपलब्ध करा दिया जायेगा, क्या सरकार बता सकती है कि क्या यह संभव हुआ है?
  • भाजपा सरकार उत्पादन-वितरण को व्यवहारिक स्वरुप देकर उपभोक्ता वस्तुओं की सहज उपलब्धता सुनिश्चित करायेगी और कड़ाई के साथ मूल्य नियंत्रण करेगी, तो इस राज्य सरकार से पूछिये कि आज बाजार में प्याज 80 रुपये किलो कैसे बिक रही है? कौन है, उसका जिम्मेवार?
  • यह सुनिश्चित करेंगे कि न कोई पेट भूखा रहे और न कोई हाथ खाली रहे, तो सरकार से पूछिये कि संतोषी भात-भात चिल्लाते हुए कैसे मर गई? अब तक सर्वाधिक मौते भूख से क्यों हुई?
  • भारतीय जनता पार्टी गरीब तथा वंचित तबकों को खाद्यान्न, स्वच्छ पीने का पानी, शिक्षा,संपूर्ण स्वास्थ्य, कानूनी सहायता द्वारा एक संपूर्ण सुरक्षा चक्र प्रदान करेगी? तो सरकार बताये उसका संपूर्ण सुरक्षा चक्र किस बिल में छुप कर आराम कर रहा है?
  • सरकारी नौकरियों में अनुसूचित जाति व जनजाति के बैक लॉग को छः माह के भीतर भरा जायेगा, अरे छः माह का दावा करनेवालों, अब तो पांच साल बीत गये, कहां गया तुम्हारा ये दावा?
  • सरकार वनवासी कल्याण योजना के अंतर्गत प्रत्येक अनुसूचित जनजाति परिवार की आय तीन वर्षों में दुगुना करने का लक्ष्य रखेगी। इसी प्रकार की योजना अनुसूचित जाति के लिए भी चलाई जायेगी, क्या ये वायदा पूरा हो गया?
  • आदिम जनजाति के 20-40 उम्र के लोगों को सरकारी नौकरी दी जायेगी, क्या ये वायदा पूरा हुआ?
  • भाजपा सरकार जनजातियों की आदि व्यवस्था, अवधारणा एवं संस्कृति को अक्षुण्ण बनाये रखने के लिए आयोग का गठन करेगी, तो राज्य के होनहार सीएम रघुवर दास बताये कि यह आयोग का मुख्यालय झारखण्ड में कहां हैं और उस आयोग का नाम क्या है?
  • भारतीय जनता पार्टी भगवान बिरसा मुंडा के नाम पर अनुसूचित जनजाति के समग्र विकास के लिए एक शोध केन्द्र स्थापित करेगी? ये शोध केन्द्र कहां है?
  • आदिवासी लोक कला एवं साहित्य परिषद् का गठन किया जायेगा, सीएम रघुवर बताये कि यह कहां पर स्थित है?
  • भारतीय जनता पार्टी आंगनवाड़ी सेविकाओं/सहायिकाओं को सम्मानजनक एवं व्यवहारिक मानदेय देने का प्रयास करेगी, तो फिर सरकार बताए कि कुछ दिन पहले रांची के राजभवन के निकट इन महिलाओं को पुलिस ने क्यों पीटा, उनके सम्मान से क्यों खेला?
  • प्रत्येक पंचायत में कल्याण भवन बनाया जायेगा, क्या प्रत्येक पंचायत भवन में कल्याण भवन बनकर तैयार है?

(जारी)

Krishna Bihari Mishra

Next Post

अजमानी का बयान बना महेश पोद्दार और CM रघुवर के लिए ‘डूबते को तिनके का सहारा’, नींद अभी भी गायब

Thu Nov 28 , 2019
प्रभात खबर में झारखण्ड चेंबर के अध्यक्ष कुणाल अजमानी का एक छोटा सा बयान छपा है, बयान है – कि वर्तमान में यह भ्रांति फैली है कि विधानसभा चुनाव में झारखण्ड चेंबर ने अपना प्रत्याशी खड़ा किया है, जो तथ्यों से परे है। चेंबर ने कोई प्रत्याशी खड़ा नहीं किया है, क्योंकि चेंबर कोई राजनीतिक दल नहीं है, हालांकि चेंबर का कोई भी सदस्य किसी भी चुनाव में खड़ा होने के लिए व्यक्तिगत रुप से स्वतंत्र है।

Breaking News