जमशेदपुर के युवाओं ने शुरू की “आकाश कैंटीन”, गरीबों के लिए निःशुल्क तो सामान्य लोगों के लिए मात्र दस रुपये में भोजन उपलब्ध

झारखंड सरकार की महत्वाकांक्षी योजना ‘दाल भात केंद्र’ की तर्ज़ पर जमशेदपुर के टेल्को कॉलोनी क्षेत्र के युवाओं ने ‘आकाश कैंटीन’ की शुरुआत की है। गुरुवार को टेल्को के प्लाज़ा डिस्पेंसरी चौक पर आकाश कैंटीन के पहले स्टॉल की विधिवत शुरुआत हुई। कोई भूखा ना रहे के शाश्वत संकल्प से प्रेरित इस अभियान का संचालन ग्रीन स्काई फाउंडेशन एनजीओ के माध्यम से हो रही है।

झारखंड सरकार की महत्वाकांक्षी योजना ‘दाल भात केंद्र’ की तर्ज़ पर जमशेदपुर के टेल्को कॉलोनी क्षेत्र के युवाओं ने ‘आकाश कैंटीन’ की शुरुआत की है। गुरुवार को टेल्को के प्लाज़ा डिस्पेंसरी चौक पर आकाश कैंटीन के पहले स्टॉल की विधिवत शुरुआत हुई। कोई भूखा ना रहे के शाश्वत संकल्प से प्रेरित इस अभियान का संचालन ग्रीन स्काई फाउंडेशन एनजीओ के माध्यम से हो रही है।

गुरुवार को पूजन के बाद ग्रीन स्काई फाउंडेशन के सदस्यों ने स्वयं फ़ीता काटकर इस स्टॉल की शुरुआत की। ग्रीन स्काई फाउंडेशन के संस्थापक आकाश सिन्हा ने बताया कि कोविड19 और लॉकडाउन ने लोगों की आजीविका को बेहद प्रभावित किया है। काफी लोगों की रोजगार प्रभावित हो गई है। कइयों के सामने भोजन का प्रबंध कर पाना भी चुनौती बन चुकी है। ऐसे प्रभावित और जरूरतमंद लोगों के भूख का समाधान ढूंढने की दिशा में एक छोटी प्रयास मात्र आकाश कैंटीन के मार्फ़त की गई है। संचालकों ने स्टॉल की अनुमति के लिए टाटा मोटर्स नगर प्रबंधन सहित जिला प्रशासन के प्रति आभार जताया है।

कैंटीन का संचालन प्रतिदिन पूर्वाह्न 11 बजे से 12 बजे तक टेल्को के प्लाज़ा डिस्पेंसरी चौक स्थित ऑटो स्टैंड के सामने होगी। गरीब अथवा असामर्थ्य लोगों के लिए यह कैंटीन बिल्कुल निःशुल्क होगी। सामर्थ्यवान लोग भी मात्र 10 रुपये की सहयोग राशि का भुगतान कर के स्वादिष्ट और पौष्टिक आहार का लुफ्त उठा सकेंगे। संचालकों ने बताया कि जरूरतमंद लोगों के लिए आकाश कैंटीन के द्वारा एक विशेष कार्ड बनाई जायेगी, जिसके आधार पर उन्हें कैंटीन में प्रतिदिन निःशुल्क भोजन का लाभ मिलेगा।

आकाश कैंटीन के संचालक ने बताया कि स्टॉल से रेडी टू इट पैक्ड भोजन मिलेगी और केवल टेक अवे की व्यवस्था होगी। बताया कि दिन के हिसाब से प्रतिदिन भोजन की मेन्यू में बदलाव होंगे। संचालकों ने बताया कि हर दिन के हिसाब से मेन्यू तैयार की गई है। गरीबों को भी बेहतर और स्वादिष्ट भोजन मिले, इस पर विशेष ध्यान ग्रीन स्काई फाउंडेशन ने दिया है। यह भी बताया गया कि दिन के अनुसार बिरयानी, राजमा चावल, कढ़ी चावल, वेज फ्राइड राइस, चना चावल, छोले चावल परोसे जाएंगे।

आकाश कैंटीन का संचालन करने वाली संस्था ग्रीन स्काई फाउंडेशन ने उद्घाटन के साथ ही हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है। इन नम्बरों पर संपर्क कर के लोग भूखे लोगों की सूचना दे सकतें है। जिन तक भोजन पहुंचाई जायेगी। हेल्पलाइन नंबर 6287503777, 9350137900 पर संपर्क किया जा सकता है। गुरुवार को टेल्को में पहले स्टॉल की शुरुआत हुई है। शीघ्र ही शहर के अन्य प्रमुख क्षेत्रों में भी ऐसे ही स्टॉल शुरू करने की कार्य योजना पर ग्रीन स्काई फाउंडेशन कार्य कर रही है।

आकाश कैंटीन का उद्घाटन रेणुका सिन्हा और विजय कुमार सिन्हा ने किया। इस दौरान ग्रीन स्काई फाउंडेशन से जुड़े आकाश सिन्हा, प्रमोद चौबे, अभिनव सिंह राठौड़, रौशन कुमार, शिवम सिंह, रजनीश सिंह, अमन वर्मा, भावेश मिश्रा, राजीव ठाकुर, आशुतोष मिश्रा, सतीश सिंह, प्रतीक जैन, विशाल सिन्हा सहित अन्य मौजूद रहें।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

लोकतांत्रिक मर्यादाओं को मिटाने में तुली हेमन्त सरकार को केन्द्र ने दिखाई अपनी ताकत, देवघर एम्स के OPD का उद्घाटन कार्यक्रम स्थगित

Thu Jun 24 , 2021
अगर गोड्डा के भाजपा सांसद डा. निशिकांत दूबे ने अपनी अभिव्यक्ति के माध्यम से राज्य सरकार को चुनौती दी है, तो ये कही से भी गलत नहीं हैं। आज की घटना क्लियर करती है कि राज्य में ममता बनर्जी वाली शैली में हेमन्त सरकार चल रही है। जो राजनीति में शुचिता को अब समाप्त करने पर तुली है। राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री बाबू लाल मरांडी ने जो आज पत्र सीएम हेमन्त सोरेन को भेजा हैं और जिस प्रकार एम्स मामले में राज्य सरकार की हरकतों पर सवाल उठाए हैं तथा यह कह दिया कि इससे गलत परम्परा की शुरुआत होगी, तो वह भी गलत नहीं हैं।

You May Like

Breaking News