JMM की नाराजगी का असर, Z+ से जुड़े सभी नेताओं के सुरक्षा/स्कॉट वाहनों की होगी ईंधन आपूर्ति

झारखण्ड मुक्ति मोर्चा ने पिछले दिनों इस बात के लिए कड़ी आपत्ति दर्ज कराई थी, जब उनके जेड प्लस से जुड़े नेताओं के सुरक्षा वाहनों की ईंधन आपूर्ति बंद कर दी गई थी, जबकि जेड प्लस से ही आच्छादित मुख्यमंत्री को यह सुविधा बहाल थी। झामुमो नेता सुप्रियो भट्टाचार्य ने तो इस संबंध में राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को एक पत्र भी लिखा था, जिसकी प्रतिलिपि पुलिस मुख्यालय और मुख्य निर्वाचन आयुक्त, भारत निर्वाचन आयोग, नई दिल्ली को भी भेजी थी।

इस पत्र के माध्यम से झामुमो नेता सुप्रियो भट्टाचार्य ने साफ कहा था कि जब मुख्यमंत्री रघुवर दास जो जेड प्लस सुरक्षाधारित है, को सुरक्षा कारणों से ईंधन आपूर्ति की जा रही है, तो जेड प्लस सुरक्षाधारित पूर्व मुख्यमंत्री उनके नेता शिबू सोरेन और हेमन्त सोरेन को क्यों नहीं? जल्द ही इन नेताओं को भी यह सुविधा उपलब्ध कराई जाय, क्योंकि सुरक्षा मामलों में दोहरा मापदंड अपनाना भी आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है एवं निष्पक्ष एवं भयमुक्त चुनाव संपन्न कराने की दिशा में गभीर प्रश्न खड़ा करता है।

झामुमो नेता सुप्रियो भट्टाचार्य द्वारा उठाये गये इस सवाल पर राज्य की पुलिस विभाग सक्रिय हुई तथा राज्य में जेड प्लस से आच्छादित सभी नेताओं के लिए आवंटित एक बीपी वाहन तथा दो मार्गरक्षक वाहन को ईंधन आपूर्ति सरकारी व्यय पर सुनिश्चित करने का आदेश जारी कर दिया, पुलिस महानिरीक्षक (प्रोविजन) के हस्ताक्षर से 27 मार्च को जारी इस पत्र में राज्य के सारे संबंधित विभागीय अधिकारियों को इसकी सूचना दे दी जा चुकी है। इसका फायदा भाजपा के अर्जुन मुंडा भी उठा सकेंगे।