पूर्व सीएम रघुवर के साथ उनके ओएसडी की शादी में शामिल चर्चित प्रेम प्रकाश आम मेहमान है या ख़ास? रिश्तेदार है, दोस्त है या अति घनिष्ठ? तस्वीर हेमन्त सरकार बनने के बाद की है, माजरा क्या है? ED जाँचें

जमशेदपुर पूर्व विधानसभा सीट से राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास को धूल चटानेवाले एकमात्र निर्दलीय प्रत्याशी सरयू राय ने आज एक ट्विट किया है और उसमें चार फोटो भी डाली है, जो रघुवर दास के ओएसडी राकेश चौधरी के यहां हुई एक वैवाहिक कार्यक्रम से संबंधित तस्वीरें हैं। इसी ट्विट को उन्होंने सोशल साइट फेसबुक पर भी साझा किया है। उन्होंने लिखा है –

“तस्वीरें बताती हैं कि पूर्व सीएम @dasraghubar के साथ उनके ओएसडी की शादी में शामिल चर्चित प्रेम प्रकाश आम मेहमान है या ख़ास? रिश्तेदार है, दोस्त है या अति घनिष्ठ? तस्वीर Hemant Soren सरकार बनने के बाद की है। माजरा क्या है? #ED जाँचें। Narendra Modi Amit Shah Dr Nishikant Dubey Babulal Marandi Arjun Munda BJP Jharkhand Bharatiya Janata Party (BJP) PMO India”

राजनीतिक पंडित तो साफ कहते हैं कि सरयू राय ने जो सवाल खड़े किये हैं, वो ऐसे ही नहीं खड़े कर दिये हैं, बात में दम है, इससे इनकार भी नहीं किया जा सकता। प्रेम प्रकाश ने जो अपनी करतबें दिखाई हैं, वो केवल हेमन्त कृपा ही नहीं, बल्कि उसके पूर्व में उस पर रघुवर कृपा भी उसी प्रकार बनी रही, क्योंकि इस राज्य का दुर्भाग्य रहा कि यहां एक (बाबू लाल मरांडी) को छोड़कर, जो भी मुख्यमंत्री बना, उसने भ्रष्टाचार की लंबी लकीरें खींचने में ही ज्यादा रुचि दिखाई, भ्रष्टाचारियों को हिम्मत बढ़ाने में ही ज्यादा दिमाग लगाया और राज्य में भ्रष्टाचार के फसल की पैदावार को बढ़ाने में ही कीर्तिमान स्थापित किया।

आश्चर्य इस बात की है कि ईडी ने पूजा सिंहल और उनकी टीम पर दबाव तो बनाया और उसके बाद प्रेम प्रकाश जैसे लोगों तक भी पहुंच गई, लेकिन जिस ओर सरयू राय का इशारा है, उस ओर ईडी ध्यान नहीं दे रही, अब पता नहीं वो इस ओर ध्यान क्यों नहीं दे रही, भगवान जानें, पर जब तक ईडी ऐसे लोगों तक पहुंच नहीं बनायेगी, सच सामने नहीं ही आयेगा और एक पक्ष इसमें भ्रष्टाचार का कीर्तिमान बनाने के बावजूद लाभ उठायेगा और दूसरा का जो हो रहा हैं, वो देश देख ही रहा है।

हालांकि सरयू राय ने अपने ट्विटर और फेसबुक के माध्यम से जो भी भ्रष्टाचारी हैं, उनका पोल हमेशा की तरह खोले जा रहे हैं, इसका परिणाम तो आज भले ही न निकलें, पर एक न एक दिन तो जरुर निकलेगा, क्योंकि जो लालू प्रसाद को जेल की हवा खिला सकते हैं, वो रघुवर और उनके गिरोहों पर क्यों नहीं कृपा बरसायेंगे, बस समय की प्रतीक्षा करिये।