आवाज अखबार ने ढुलू की नींद उड़ाई, ढुलू ने आवाज के खिलाफ आग उगला, जो कल तक ढुलू के खिलाफ थे, आज उनके सामने ठुमक रहे

आवाज अखबार ने ढुलू की नींद उड़ा दी है, ढुलू महतो भाजपा से बाघमारा के विधायक है, ये राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास के अतिप्रिय है। राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास समय-समय पर इन पर कृपा लूटाते रहते हैं। इधर ढुलू महतो के खिलाफ जब से हाई कोर्ट ने अपनी भृकूटि तानी है, बेचारे की हालत खराब हो गई है, उन्हें अंदेशा है कि कही भाजपा से उनकी टिकट न कट जाये, और अगर भाजपा से उनका टिकट कटता हैं

आवाज अखबार ने ढुलू की नींद उड़ा दी है, ढुलू महतो भाजपा से बाघमारा के विधायक है, ये राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास के अतिप्रिय है। राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास समय-समय पर इन पर कृपा लूटाते रहते हैं। इधर ढुलू महतो के खिलाफ जब से हाई कोर्ट ने अपनी भृकूटि तानी है, बेचारे की हालत खराब हो गई है, उन्हें अंदेशा है कि कही भाजपा से उनकी टिकट न कट जाये, और अगर भाजपा से उनका टिकट कटता हैं तो उनके भविष्य पर आज नहीं तो कल संकट अवश्य मंडरायेगा, इसमें कोई संदेह नहीं।

इधर धनबाद से प्रकाशित अखबार आवाज ने इनकी नींद उड़ा दी है, समय-समय पर उसके द्वारा दिये जानेवाले डोज से ढुलू घबराये हुए हैं, उन्हें लग रहा है कि आवाज एक सोची समझी रणनीति के तहत उन पर हमले बोल रहा है, लेकिन सच्चाई यह है कि हर अखबार अपनी मर्यादा का ख्याल रखता है, और वहीं छापता हैं, जो उसे छापना चाहिए। एक समय था, कि धनबाद में सिर्फ आवाज ही दिखता था, समय बदला आज धनबाद से बहुत सारे अखबार प्रकाशित होते हैं, जो समय-समय पर अपने – अपने ढंग से समाचार प्रकाशित करते रहते हैं।

इधर आवाज द्वारा लगातार ढुलू को लेकर की जा रही रिपोर्टिंग से घबराए ढुलू ने जनता के नाम एक अपील की है। उस अपीलिंग विडियो को खूब वायरल किया जा रहा है। ये विडियो वे लोग भी वायरल कर रहे हैं, जो कल तक ढुलू के घोर विरोधी थे, पर आज ढुलू महतो की उन पर कृपा बरसने के कारण, वे भी ढुलू भक्त हो गये। विद्रोही24.कॉम के पास ऐसे लोगों की एक लंबी लिस्ट है। जिसे जल्द ही विद्रोही24.कॉम प्रसारित भी करेगा।

इधर ढुलू महतो का कहना है कि वे बाघमारा में राम राज लाने की सोच रहे हैं, पर कुछ लोग उन्हें ऐसा करने से रोक रहे हैं, उन्हें जनता का सहयोग चाहिए, वे यह भी कहते है कि आवाज अखबार जो धनबाद में ज्यादा दिखता भी नहीं हैं, उनके छवि को धूमिल करने का प्रयास कर रहा है, बाघमारा की छवि खराब करने का प्रयास कर रहा है, जनता ऐसे अखबार के खिलाफ आंदोलन चलाने में उनकी मदद करें, ढुलू का ये भी कहना है कि उन पर जो भी आरोप लग रहा है, अगर वह आरोप सिद्ध हो गया तो वे फांसी पर चढ़ने तक तो तैयार है।

कुछ लोगों का कहना है कि ढुलू और रामराज ये कभी हो ही नहीं सकता। ढुलू अपने विरोधियों को चाहे तो पैसे से खरीदना जानता है, अथवा आतंक के बल पर उन्हें अपने पक्ष में करना जानता है, इधर भाजपा की जिला मंत्री कमला कुमारी द्वारा उस पर लगाये गये यौन शोषण के आरोप ने ढुलू की नींद उड़ा दी है, झारखण्ड उच्च न्यायालय ने धनबाद के एसएसपी और राज्य के पुलिस महानिदेशक से सवाल पूछा है कि आखिर भाजपा विधायक ढुलू महतो के खिलाफ यौन शोषण की प्राथमिकी क्यों नहीं दर्ज हुई, दोनों अधिकारियों को 22 सितम्बर को झारखण्ड हाई कोर्ट में जवाब देना है।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

भाकपा माले ने नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन्स में व्याप्त खामियों पर अंगूलिया उठाई

Sun Sep 1 , 2019
असम में नेशनल रजिस्‍टर ऑफ सिटीजन्‍स (एनआरसी) की फाइनल सूची प्रकाशित हो चुकी है। 19 लाख से ज्‍यादा लोग (कुल 19,06,657) इस सूची से बाहर हैं। चिन्‍ता की बात है कि इतनी बड़ी संख्‍या में बहिष्‍करण भारी मानवीय संकट का कारण बन सकता है। जो लोग एनआरसी से बहिष्‍कृत हुए हैं, उन्‍हें 120 दिनों के भीतर फॉरेनर्स ट्रिब्‍यूनल में आवेदन करना होगा।

You May Like

Breaking News