राजनीति

सुप्रियो का बयान- PM मोदी की मंत्रिपरिषद् में एक भी झारखण्डी भूमिपुत्रों को जगह नहीं, कल प्रदेश मुख्यालय में छाया था अंधेरा, भाड़े के लोगों को मंगवाकर भाजपा नेताओं ने मनाया जश्न

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कल प्रधानमंत्री पद की शपथ ली और अपने मंत्रिपरिषद् का जो विस्तार किया, उससे झारखण्ड का उपहास हुआ है। झारखण्ड को जो हक मिलना चाहिए था, जिसकी आशंका भी थी। वो नहीं मिला जो सही साबित हुआ। इसी के साथ यह भी दिख गया कि झारखण्ड को इस सरकार से सरना धर्म कोड, 27 प्रतिशत आरक्षण और जातीय जनगणना की आशा रखना भी बेमानी है। उक्त बातें आज संवाददाता सम्मेलन के दौरान झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के केन्द्रीय महासचिव व प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कही।

उन्होंने कहा कि कल की कैबिनेट में झारखण्ड से एक कैबिनेट मंत्री अन्नपूर्णा देवी को छोड़कर किसी भी भूमिपुत्र, जिसका यहां नाभिगड़ा हुआ है। उसे स्थान नहीं दिया गया है। ऐसे व्यक्ति को राज्यमंत्री बनाया गया है जिसने पांच वर्षों तक कभी एचइसी के बारे में संसद में मुंह तक नहीं खोली। जो हमारे श्रमिकों का खून पीनेवाले नीतियो की हिमाकत करते रहे।

इस सरकार में शामिल एक-एक सहयोगी दल के एक व्यक्ति को कैबिनेट मंत्री बना दिया गया और झारखण्ड में ही एक सहयोगी जिसका व्यक्ति दो-दो बार सांसद बना, उसे मंत्री नहीं बनाया गया। उन्हें ठेंगा दिखाया गया। इसके बावजूद ये लोग इनके पीछे-पीछे घुमेंगे। विधानसभा चुनाव में एक-एक सीट के लिए आगे पीछे करेंगे। हालांकि ये उनका मामला है, फिर भी चूंकि झारखण्डी मानस है, तो झारखण्ड का हित दिखेगा ही।

सुप्रियो ने कहा कि राज्यमंत्री के तौर पर झारखण्ड से एक घुसपैठिया को मंत्री बना दिया गया। आश्चर्य यह भी देखा गया कि भाजपा के प्रदेश कार्यालय में कल अंधेरा छाया हुआ था। भाड़े पर भीड़ जुटाये गये। लालपुर और रातू रोड में यानी एक दो जगहों पर सांकेतिक तौर पर जश्न मनाया गया, जिसमें प्रदेशस्तरीय एक नेता तक शामिल नहीं था। स्थिति इनकी इतनी है कि 240 सदस्यों में से इनके 125 लोग तो अन्य दलों से आये हुए हैं, बचे 115 ही इनके अपने हैं।

कल तक मोदी-मोदी चिल्लानेवाले आज मेरा नेता नीतीश कुमार, मेरा नेता चंद्रबाबू नायडू, चिराग पासवान, एक नाथ शिंदे भज रहे हैं। कल का नेता वो मजदूर हो गया। अब वो नहीं बोल पाता, मेरा नेता नरेन्द्र मोदी नहीं कह पाता। सुप्रियो ने कहा कि अभी भी सात सीटें केन्द्र में खाली है। नरेन्द्र मोदी को चाहिए कि उन सात सीटों में से कम से कम एक कैबिनेट स्तर का मंत्री व एक राज्य मंत्री झारखण्ड के उस व्यक्ति को बनाये, जिसका नाभि झारखण्ड में गड़ा हुआ हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *