सुप्रियो का बयान – भाजपा में गलत लोगों की ही पदोन्नति होती हैं, संसद में वीभत्स बयान देनेवाले रमेश विधुड़ी को भी इसका मिलेगा लाभ, बाबूलाल मरांडी का साथी रमेश पांडेय गो-तस्करी में शामिल

झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के केन्द्रीय महासचिव व प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने आज भाजपा सांसद रमेश विधुड़ी द्वारा संसद में दिये गये आपत्तिजनक बयान को लेकर कड़ी आपत्ति दर्ज की। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति इस प्रकार की भाषा संसद में बोलता है, उसकी मानसिकता क्या होगी? उसके दिल में क्या होगा? यही स्थिति रही तो भाजपा के द्वारा जेनोसाइड किया जायेगा। नहीं तो इस प्रकार के बयान के बाद कोई भी पार्टी चुप नहीं रह सकती थी।

लेकिन भाजपा की तो मजबूरी है ब्रजभूषण सिंह, अजय सिंह टेनी, रमेश विधुड़ी, साध्वी प्रज्ञा, साध्वी ऋतम्भरा, योगी आदित्यनाथ जो भरी सभा में कहते हैं कि – ‘न कोर्ट, न कचहरी, न जेल, सीधे प्रभु से मेल।’ जो दिखता भी है। विकास दूबे और अतीक अहमद के साथ तो ऐसा ही हुआ। भाजपा का यह रुप देश को दहला रहा है।

सुप्रियो ने कहा कि जिस दल का नेता किसी की पत्नी को देखकर 50 करोड़ की गर्लफ्रेंड कहे, जिसका राज्य मंत्री सीधे किसी को पाकिस्तान जाने को बोले, जिसका राज्य मंत्री देश के गद्दारों को गोली मारने की बात करते हो, जिस पार्टी में गलत बोलनेवालों को राज्य मंत्री से सीधे कैबिनेट मंत्री बना दिया जाता हो। एक और कैबिनेट मंत्री जिसकी राजनीतिक जन्मस्थली जिस पार्टी की थी, उस नेता के संबंध में थप्पड़ मारने की बात करता हो, वैसे दल के बारे में क्या बात करना।

सुप्रियो ने कहा कि अब तो भाजपा में नये कीर्तिमान बन रहे हैं। महिला आरक्षण बिल का समर्थन बलात्कार का आरोपी सांसद करता है। इस बार तो एक सांसद ने ऐसी गाली-गलौज की है, वो भी धर्म के नाम लेकर आतंकवाद या उग्रवाद नहीं, बल्कि इतना वीभत्स शब्द कि क्या कहने? और उसी वक्त संसद में उसके पास बैठे भाजपा सांसद ठहाका लगाते हैं। आश्चर्य है, भाजपा में जो जितना गाली-गलौज करता है, उसकी पदोन्नति ज्यादा होती है।

रमेश विधुड़ी की भी अब जल्द पदोन्नति होगी। उन्हें जल्द ही दिल्ली प्रदेश भाजपा का अध्यक्ष, नहीं तो कोई बड़ा पद जरुर ही मिलेगा। सुप्रियो ने कहा कि उन्हें इस बात का दुख है कि लोकसभाध्यक्ष जो बात-बात पर सांसदों को सस्पेंड कर देते हैं, वे इस मुद्दे पर ये कहते है कि बच्चा है, आगे से ऐसा नहीं करेगा। मतलब बेशर्मी की भी हद होती है। भाजपा ने मर्यादा तोड़ी है।

सुप्रियो ने कहा कि झारखण्ड में भाजपा के एक नेता बाबूलाल मरांडी संकल्प यात्रा पर है और उनका साथी एक गो-तस्कर है। 20 सितम्बर को उनका निकट सहयोगी रमेश पांडेय पकड़ा गया और भाग गया। ये लोग आखिर किस तरफ जा रहे हैं। संकल्प यात्रा किसके बदौलत कर रहे हैं? ये संसाधन भाजपा नेता रमेश पांडेय का लगा है। दरअसल, भाजपा में टॉप से लेकर बॉटम तक गलत लोग भरे पड़े हैं।