सुबोधकांत खून चुसनेवाला, कांग्रेस के पुराने नेता असली बीमारी, लोकसभा/विधानसभा सीट उनके पिताजी की सीट नहीं – अजय

इन दिनों झारखण्ड के प्रदेश अध्यक्ष डा. अजय कुमार आपे से बाहर हैं, उनके निशाने पर वे सारे कांग्रेस के नेता है, जो उन्हें पसन्द नहीं कर रहे, उन्होंने खुद से इनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है, आम तौर पर जो बातें पार्टी के अंदर होनी चाहिए, डा. अजय कुमार ने उसे खुद ही पार्टी के बाहर लाकर, पार्टी के अंदर हो रहे उठा-पटक को सामने लाकर रख दिया। उन्होंने एक चैनल से बातचीत में खुलकर अपना आक्रोश व्यक्त किया।

इन दिनों झारखण्ड के प्रदेश अध्यक्ष डा. अजय कुमार आपे से बाहर हैं, उनके निशाने पर वे सारे कांग्रेस के नेता है, जो उन्हें पसन्द नहीं कर रहे, उन्होंने खुद से इनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है, आम तौर पर जो बातें पार्टी के अंदर होनी चाहिए, डा. अजय कुमार ने उसे खुद ही पार्टी के बाहर लाकर, पार्टी के अंदर हो रहे उठा-पटक को सामने लाकर रख दिया। उन्होंने एक चैनल से बातचीत में खुलकर अपना आक्रोश व्यक्त किया।

डा. अजय कुमार का कहना था कि कांग्रेस के नेता प्रदीप बलमुचू को कांग्रेस पार्टी की चिन्ता कम, अपनी बेटी को टिकट मिले, इसकी चिन्ता ज्यादा है। उन्होंने कहा इनलोगों को सीटें चाहिए, टिकट चाहिए, पर कोई रिटायर होना नहीं चाहता। ये ऐसे लोग हैं, जो तीन-तीन, चार-चार लाख वोटों से हार रहे हैं, फिर भी ये किसी को आगे बढ़ते देखना नहीं चाहते।

उन्होंने कहा कि वे सुबोधकांत सहाय और प्रदीप बलमुचू पर कार्रवाई करने के लिए आल इंडिया कांग्रेस कमेटी को रिपोर्ट सौंपने जा रहे हैं। इनलोगों ने अपनी सीट को पिताजी की सीट बना लिया है। उन्होंने कहा कि यही लोग असली बिमारी है, चोरी करते हैं, इनमें से एक के खिलाफ सीबीआई केस भी है।

डा. अजय कुमार ने कहा कि वे सबको साफ करके जायेंगे, क्योंकि अब बहुत हो गया, शराफत की कोई सुन ही नहीं रहा, वे सब को ठीक करेंगे। उन्होंने ये भी कहा कि सुबोधकांत सहाय बोलते है कि डा. अजय कुमार मद्रासी है, शायद उन्हैं मालूम नहीं कि वे पचपन साल में पचास दिन भी कर्नाटक में नहीं रहे, हमने तो खून दिया पर उन्होंने खून चूसा। ये लड़ाई खून चूसनेवाले और खून देनेवालों के बीच है।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

प्रभात खबर की “रघुवर भक्ति” और बिजली मुद्दे पर CM रघुवर के झूठ से परेशान झारखण्डवासी

Fri Aug 2 , 2019
गत् 12 जुलाई को झारखण्ड के सीएम रघुवर दास द्वारा बिजली से संबंधित बयान रांची के सभी प्रमुख अखबारों में दिखी थी, जिससे पता चला था कि राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बिजली अधिकारियों को हड़काया था कि 31 जुलाई तक बिजली नहीं सुधरी तो सबको सुधार देंगे। सीएम रघुवर दास ने तो यहां तक कह दिया था कि 31 जुलाई के बाद से रांची में जीरो पावर कट बिजली देखने को मिलेगी,

You May Like

Breaking News