RJD-JMM में दरार के संकेत, RJD पर राजनीतिक मक्कारी का आरोप, RJD के खिलाफ बिहार में उतारेगा JMM उम्मीदवार

214

राष्ट्रीय जनता दल ने झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के साथ राजनीतिक मक्कारी की है। राजनीतिक शिष्टाचार की जो मर्यादाएं होती है, उसे भी लांघ गई है। हमने झारखण्ड खैरात में नहीं लिया, संघर्ष करके लिया है, हम राजदवालों को बता देना चाहते है कि हम बिहार में ताल ठोककर चुनाव लड़ेंगे, कम सीटों पर लड़ेंगे, लेकिन जीत कर रहेंगे और जब उन्हें सत्ता प्राप्त करने के लिए जितनी सीटों की आवश्यकता पड़ेगी, उतनी सीटे हमारे पास होगी, जेएमएम के पास होगी।

ये राजद के नेताओं को गिरह पार लेना चाहिए। ये वक्तव्य है – झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के वरिष्ठ नेता व केन्द्रीय महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्या का, जिन्होंने आज संवाददाताओं से बातचीत में कही। उन्होंने कहा कि फिलहाल झामुमो झाझा, चकाई, कटोरिया, धमदाहा, मनिहारी, पीरपैती व नाथनगर से अपना उम्मीदवार उतारेगी, और बाकी जगहों की घोषणा बाद में करेगी। उन्होंने कहा कि राजद को 144 सीटे मुबारक, हम किसी का कृपापात्र बनकर राजनीति नहीं करेंगे।

उन्होंने लालू यादव पर आरोप लगाया कि उन्होंने सामाजिक न्याय की बात तो बराबर कही, पर राजनीतिक भागीदारी में उन्होंने झामुमो को धोखा दे दिया। सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि राजद को मालूम होना चाहिए कि 2019 में उनकी पार्टी की झारखण्ड में एक सीट जीतने की भी हैसियत नहीं थी, पर हमारे विरोधी दल के नेता हेमन्त सोरेन ने लोकसभा और विधानसभा चुनाव के दौरान राजद को सम्मानजनक सीटें दीं, यही नहीं जिस राजद के घर में अंधेरा था, वहां लालटेन तक जलवा दिया पर आज बिहार में चुनाव की बारी आई तो वे हमें भूल गये।

शायद उन्हें नहीं पता कि बिहार की राजनीति में झामुमो हमेशा विशेष स्थान रखी है। उन्होंने कहा कि हमने राजद के बुरे दिनों में साथ दिया और यही नहीं विधानसभा में मात्र एक सीट लानेवाली राजद को मंत्री तक बना दिया, और राजद ने झामुमो के साथ क्या किया? वो हमारे साथ, यहां की जनता, बिहार की जनता भी देख रही है। उन्होंने कहा कि आज का राजद पुराने दिनों की स्थितियों-परिस्थितियों को याद रखना नहीं चाहता, वो झामुमो को समझने की भूल कर रहा है, झामुमो अपने सम्मान के साथ अब कोई समझौता नहीं करेगी, वह बिहार में स्वतंत्र रुप से लड़ेगी, इस बहुकोणीय मुकाबले में अपना अलग स्थान बनायेगी।

Comments are closed.