शर्मनाक, देवघर में हेमन्त द्वारा कुंवर सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण के विरोध में कुछ लोगों ने प्रतिमा को स्नान कराया

भाई इतनी नफरत क्यों? अगर नेता प्रतिपक्ष हेमन्त सोरेन ने बाबू कुंवर सिंह के प्रतिमा पर माल्यार्पण कर दिया तो कौन सा पहाड़ टूट गया, ये तो गर्व की बात है, कि हेमन्त सोरेन ने बाबू कुंवर सिंह को अपना माना, उन्हें सम्मान दी, देश के गौरव के रुप में स्वीकार किया, अगर यह भी किसी को अच्छा नहीं लगे तो समझ लीजिये, देश को रसातल में जाने से कोई रोक नहीं सकता।

भाई इतनी नफरत क्यों? अगर नेता प्रतिपक्ष हेमन्त सोरेन ने बाबू कुंवर सिंह के प्रतिमा पर माल्यार्पण कर दिया तो कौन सा पहाड़ टूट गया, ये तो गर्व की बात है, कि हेमन्त सोरेन ने बाबू कुंवर सिंह को अपना माना, उन्हें सम्मान दी, देश के गौरव के रुप में स्वीकार किया, अगर यह भी किसी को अच्छा नहीं लगे तो समझ लीजिये, देश को रसातल में जाने से कोई रोक नहीं सकता।

सवाल यह भी हैं कि ये कौन लोग हैं, जो देश के लिए मरनेवाले महान सपूतों को जातीयता में तौलते हैं, वे ये क्यों नहीं जानते, जो देश के लिए मरता हैं, वह किसी जाति विशेष या धर्म का नहीं होता, वह सभी का होता है, उस पर गर्व करने का अधिकार सभी को हैं, उसके बताये गये पदचिन्हों पर चलने का अधिकार सभी को हैं, पर जिस प्रकार से कुंवर सिंह की प्रतिमा को स्नान कराया गया, निःसंदेह इससे समाज में कटुता फैलेगी, और समाज बंटेगा।

दरअसल नेता प्रतिपक्ष हेमन्त सोरेन इन दिनों झारखण्ड संघर्ष यात्रा पर हैं, झारखण्ड संघर्ष यात्रा के दौरान, इनकी जनसभाओं में भारी भीड़  जुट रही हैं, इतनी भीड़ तो राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास की सभा में भी नहीं दिखती। हेमन्त जहां भी जा रहे हैं, उस रास्ते में पड़नेवाले महान सपूतों की प्रतिमाओं पर माल्यार्पण कर रहे हैं, तथा उनसे आशीर्वाद ग्रहण कर रहे हैं, ठीक उसी प्रकार जैसे की हर नेता करता हैं, यह स्वभाविक हैं, पर आज तक किसी संगठन ने ऐसी हरकत नहीं की, जो हरकत देवघर में देखने को मिली। जैसे ही हेमन्त सोरेन ने बाबू कुंवर सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया, उसके आक्रोश में कुछ लोगों ने गंगाजल से प्रतिमा को स्नान कराया और उसकी शुद्धिकरण की।

अब सवाल उठता है कि इससे किसका अपमान हुआ, बाबू कुंवर सिंह के प्रतिमा का, हेमन्त सोरेन का, या उन लोगों का जिन्होंने ऐसी हरकतें कर बाबू कुंवर सिंह के शहादत को अपमान किया। हालांकि जिस प्रकार से कुछ लोगों ने बाबू कुंवर सिंह की प्रतिमा को स्नान कराया, वहां से झामुमो के झंडे उतारकर फेंके, उसे किसी ने भी सही नहीं ठहराया है, पर इस प्रकार की हरकत ने सिद्ध कर दिया कि समाज में वैमनस्यता फैलानेवालों की भी झारखण्ड में कोई कमी नहीं, खुशी इस बात की है कि इस घटना को झामुमो के लोगों ने लाइटली लिया हैं, तथा सभी से आपस में प्रेम सौहार्द बनाये रखने का अनुरोध किया है।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

होनहार CM और उनके मुख्यमंत्री सचिवालय ने ठोक दिया दावा कि झारखण्ड बन गया विकसित राज्य

Sat Feb 23 , 2019
मुख्यमंत्री सचिवालय रांची ने प्रेस विज्ञप्ति संख्या 173/2019 जारी कर, राज्य के अपने होनहार मुख्यमंत्री रघुवर दास के हवाले से कहा है कि पिछले साढ़े चार वर्षों में झारखण्ड अब विकसित राज्यों की श्रेणी में आकर खड़ा हुआ है। यह बात राज्य के होनहार मुख्यमंत्री रघुवर दास ने अपने संबोधन में, खेलगांव में आयोजित प्रधानमंत्री उज्जवला योजना अंतर्गत गैस कनेक्शन एवं चूल्हा वितरण कार्यक्रम में कही।

You May Like

Breaking News