सरयू राय ने झारखण्ड के स्वास्थ्य विभाग में चल रही धांधली को लेकर हेमन्त सरकार को चेताया, कहा इससे सरकार की सेहत पर पड़ेगा असर

निर्दलीय विधायक एवं कभी भाजपा के थिंक टैंक माने जानेवाले सरयू राय की एक ट्विट ने झारखण्ड सरकार के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता और स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव की नींद उड़ा दी है। निर्दलीय विधायक ने ताल ठोककर ट्विट किया है, और स्वास्थ्य विभाग में चल रही धांधली की एक तरह से पोल खोलकर रख दी है। आखिर सरयू राय ने लिखा क्या है, जरा उसे ध्यान से पढ़िये –

झारखण्ड का स्वास्थ्य विभाग सरकार की सेहत बिगाड़ रहा है। नियम विरुद्ध तबादले करना, रोकना, फिर करना, चिह्नित पदों पर अयोग्य का चयन करना, बर्खास्तगी की सजा योग्य आरोपी का बचाव करना, उन्हें महत्व के पद पर टिकाए रखने का तिकड़म करना विभाग की उच्चस्तरीय प्राथमिकता बन गया है।

राजनीतिक पंडितों की मानें, तो वे भी स्वीकार करते हैं कि झारखण्ड में, खासकर स्वास्थ्य विभाग में जितनी धांधलियां या भ्रष्टाचार है, उतनी धांधलियां व भ्रष्टाचार कही नहीं और सरयू राय के ट्विट ने तो स्थिति ही स्पष्ट कर दी है। राजनीतिक पंडित तो साफ कहते है कि सरयू राय का कोई भी वाक्य या ट्विट हल्के में नहीं लिया जा सकता, अगर कोई हल्के में लेता हैं तो उसका भी स्वास्थ्य खराब होने से इनकार नहीं किया जा सकता।

राजनीतिक पंडित को मानें तो उनका कहना है कि राज्य के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन को इसका संज्ञान लेना चाहिए और राज्य के स्वास्थ्य मंत्री और स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव से सरयू राय के इस ट्विट पर जवाब मांगना चाहिए, क्योंकि सच्चाई यही है कि इन दिनों स्वास्थ्य विभाग में जो ईमानदार अधिकारी है, उनकी हालत पस्त हैं और जो भ्रष्ट हैं उनकी तो अभी बल्ले-बल्ले हैं, अगर राज्य सरकार ने अभी इसे ठीक नहीं किया तो हेमन्त सरकार की जो बची-खुची सम्मान है, वो भी जाते देर नहीं लगेगी।