पांच कुरान बांटने के आदेश से खफा, रांची बार एसोसिएशन मनीष कुमार सिंह की कोर्ट का करेगा बहिष्कार

रांची जिला बार एसोसिएशन ने एक मीटिंग कर आज इस बात का ऐलान किया कि एसोसिएशन मनीष कुमार सिंह के कोर्ट का तब तक बहिष्कार करेगा, जब तक इनका तबादला नहीं हो जाता। रांची जिला बार एसोशिएशन के सचिव कुंदन प्रकाशन ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि रांची जिला बार एसोसिएशन ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया है कि मनीष कुमार सिंह के कोर्ट का बहिष्कार किया जायेगा, तथा उनके कोर्ट में कोई भी न्यायिक कार्य नहीं होंगे। 

रांची जिला बार एसोसिएशन ने एक मीटिंग कर आज इस बात का ऐलान किया कि एसोसिएशन मनीष कुमार सिंह के कोर्ट का तब तक बहिष्कार करेगा, जब तक इनका तबादला नहीं हो जाता। रांची जिला बार एसोशिएशन के सचिव कुंदन प्रकाशन ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि रांची जिला बार एसोसिएशन ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया है कि मनीष कुमार सिंह के कोर्ट का बहिष्कार किया जायेगा, तथा उनके कोर्ट में कोई भी न्यायिक कार्य नहीं होंगे। 

कुंदन प्रकाशन ने कहा कि यह बहिष्कार तब तक जारी रहेगा, जब तक उनका तबादला नहीं हो जाता। उन्होंने कहा रांची जिला बार एसोसिएशन को जेसी साहब ने 48 घंटे के अंदर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है, फिर भी अभी से ही मनीष कुमार सिंह के कोर्ट का बहिष्कार प्रारम्भ हो गया।

कुंदन प्रकाशन ने संवाददाताओं से कहा कि ऋचा भारती मामले में जिस प्रकार न्यायिक दंडाधिकारी मनीष कुमार सिंह ने पांच कुरान बांटने की शर्त लगाई, उससे सामाजिक समरसता भंग हो गया, देश में जो हालात है, इस आदेश ने और भड़काने का काम किया है।

उन्होंने कहा कि अगर उनको पालिटिक्स में इतनी ही रुचि है तो उन्हें इस्तीफा देकर कोई पॉलिटिकल पार्टी ज्वाइन कर लेनी चाहिए, क्योंकि जिस प्रकार का आदेश उन्होंने दिया है, उसकी जितनी निन्दा की जाय कम है। बताया जाता है कि न्यायिक दंडाधिकारी मनीष कुमार सिंह के इस फैसले से अधिवक्ताओं में भी काफी आक्रोश देखा जा रहा है।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

राशन के अभाव में कान्हाचट्टी के झिंगुर भुइंया की मौत, CPIML ने कहा उपायुक्त के खिलाफ कार्रवाई जरुरी

Wed Jul 17 , 2019
भाकपा माले राज्य सचिव जनार्दन प्रसाद ने झारखंड की भाजपा सरकार को जनता के प्रति असंवेदनशील सरकार की संज्ञा दी है। चतरा जिले में राशन के अभाव मे कान्हाचट्टी प्रखंड के झिंगुर भुइंया की मौत को दुखद बताते हुए जिला उपायुक्त पर कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने आगे और कहा कि सरकार की जनवितरण प्रणाली की व्यवस्था विफल साबित हुई है।

Breaking News