रामगढ़ डीएसपी किशोर कुमार की भीष्म प्रतिज्ञा – न्यूज 11 को संविधान व कानून का पाठ पढ़ायेंगे, भंडाफोड़ करेंगे

रामगढ़ के डीएसपी किशोर कुमार इन दिनों चर्चा में हैं। जब से उनकी पत्नी वर्षा ने उनके खिलाफ मार-पीट की प्राथमिकी दर्ज कराई है और ये बाते इन दोनों के द्वारा सोशल साइट पर दी गई, तो लोगों ने इस मुद्दे पर दिलचस्पी लेनी शुरु कर दी हैं। अगर दोनों के फेसबुक पर आप जाये, तो दोनों के समर्थक भी काफी संख्या में हैं, पर इन्हीं समर्थकों में कई ऐसे लोग भी हैं, जो नहीं चाहते कि इनका पारिवारिक संबंध विच्छेद हो। कई लोगों ने आपसी मतभिन्नता को आपस में हल कर, आगे बढ़ने की सलाह दी है।


विद्रोही 24 को भी महसूस होता है कि डीएसपी किशोर भी नहीं चाहते कि उनकी पत्नी से उनका संबंध विच्छेद हो, क्योंकि अगर वे ऐसा चाहते तो वे अपने यू-ट्यूब में दिये गये वक्तव्य में न्यूज 11 को ये नहीं कहते कि “तुमने कल से तांडव मचा कर रखा है, तुम्हारी कोशिश है कि किसी भी हालत में ये फैमिली नहीं जुटे, हर संभावना का द्वार तुमने खत्म कर दिया, एकतरफा न्यूज चला के।” आगे वे ये भी कहते है कि वे यानी न्यूज 11 को संविधान का पाठ पढ़ायेंगे, कानून का पाठ पढ़ायेंगे, तुम्हारी बारी भी आयेगी, क्योंकि अभी कई मोर्चें पर लड़ाई जारी हैं।

किशोर, न्यूज 11 का नाम लेकर साफ कहते है कि पति-पत्नी के बीच चल रहे विवादों पर कोर्ट भी जल्द फैसले नहीं देता, वो कुछ महीने दोनों को समय देता हैं ताकि दोनों में अंत-अंत तक सुलह हो जाये, पर तुमने यानी न्यूज 11 ने एकतरफा पत्रकारिता कर नंगा नाच, तांडव किया है। वे अपने वक्तव्य में न्यूज 11 में काम करनेवाले एक दाढ़ीवाले व्यक्ति को जिसे कुछ दिन पहले उन्होंने चुनौती दी थी कि “हम तुम्हे चुनौती देते हैं। विषय तुम्हारा, जगह तुम्हारा, समय तुम्हारा, एक बार ज्ञान के स्तर से भिड़ना चाहोगे?” वे यूट्यूब पर कहते है कि उसे जो उन्होंने ज्ञान के स्तर पर चैलेंज किया था, वे उसे वापस लेते है क्योंकि ज्ञान के स्तर पर भिड़ने के लायक भी किशोर, उसे नहीं समझते, जिसको लेकर वे एक प्रमाण भी देते हैं।

किशोर यूट्यूब के माध्यम से कहते है कि न्यूज 11 तुम्हारा काम समाचार देना हैं, दोनों पक्षों का समाचार देना, जजमेंट करना नहीं। किशोर कहते है कि न्यूज 11 ने जो कुकर्म किया है, उस कुकर्म की माफी ईश्वर और प्रकृति के पास भी नहीं हैं, इसकी सजा प्रकृति, ईश्वर अवश्य देगा। बद्दुआएं अवश्य लगेगी। वे कहते है कि न्यूज 11 को तो पत्रकारिता का सामान्य नियम भी मालूम नहीं, और न सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन ही मालूम है। वे कहते है कि मैं न्यूज 11 को क्यों स्पष्टीकरण दूं? वे जल्द ही न्यूज 11 को कानून के अंदर लायेंगे, सबक सिखायेंगे।

किशोर कहते हैं कि न्यूज 11 तुम्हें ईश्वर कभी माफ नहीं करेगा, किसी न किसी रुप में तुम भुगतोगे। किशोर अपने वक्तव्य में न्यूज 11 पर आरोप लगाते है कि न्यूज 11 रामगढ़ से उन्हें हटाना चाह रहा हैं। किशोर कहते है कि हो सकता है कि उसमें वो सफल भी हो जाये। हटाने को क्या हैं, जिस दिन सरकार चाहेगी, वे यहां से चले जायेंगे, पर जिस दिन यहां से हटेंगे, वे न्यूज 11 का भंडाफोड़ करके जायेंगे और उसी दिन वे न्यूज 11 से फ्रंट खोलकर लड़ेंगे।

वे न्यूज 11 को कहते है कि याद रखों, जब कोई गलती करता चला जाता हैं तो उन्हीं गलतियों में से एक गलती ऐसी भी होती हैं, जिससे उसका नामोनिशां मिट जाता हैं, बहुत सारे ऐसे चैनल जो कल थे, पर आज उनका नामोनिशां नही हैं, ऐसे भी तुम्हें झारखण्ड के बाहर कौन जानता है, मेरे (किशोर) जैसे बनने की औकात नहीं हैं। वे गर्व से कहते है कि उनकी ईमानदारी पर रामगढ़ में किसी ने अंगूलियां नहीं उठाई।

इधर राजनीतिक पंडितों का कहना है कि किशोर कुमार रजक ने जो भी बातें कहीं या उठाई हैं, वो किसी भी प्रकार से गलत नहीं हैं, वक्त और समय चाहे आप उसे ईश्वर कह लीजिये, या प्रकृति आप से आपके द्वारा किये गये कुकर्मों का हिसाब ले ही लेती है, चाहे आप कितने भी तीसमारखां क्यों न हो? इसमें कोई दो मत नहीं कि न्यूज 11 की अभी चलती हैं, क्योंकि उसे केन्द्र व राज्य में सत्ता का सुख भोग रहे तथाकथित राजनीतिज्ञों का आशीर्वाद प्राप्त है।

यहीं नहीं, राज्य में जितने भी भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी हो या भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी इन दोनों में एक दो को छोड़कर सभी न्यूज 11 की परिक्रमा करते हैं। इन अधिकारियों व नेताओं के कार्यालय में जाइये तो और कोई चैनल चलता हुआ मिले या नहीं, पर ये न्यूज 11 चल रहा होता है। राज्य में किसी की भी सरकार हो, इसी की तूती बोलती है और जब भारतीय पुलिस सेवा, भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी इस चैनल के आगे नतमस्तक हैं, तो फिर झारखण्ड राज्य के विभिन्न थानों में बैठे थानेदार की क्या हैसियत की, इस चैनल की गुंडागर्दी के खिलाफ एक्शन ले लें।

मैंने तो देखा है कि इस चैनल के एक इशारे पर सीएमओ, प्रोजेक्ट बिल्डिंग तथा पुलिस मुख्यालय में बैठे लोग एक पैर पर खड़े हो जाते हैं। इसके एक इशारे पर सत्यनिष्ठ व्यक्ति के खिलाफ झूठे मुकदमें तक दर्ज कर लिये जाते हैं और उस झूठे केस को जिंदा रखने और उसे सत्य साबित करने के लिए हर हथकंडे अपनाये जाते हैं। ऐसे में आप किशोर कुमार रजक, डीएसपी, रामगढ़ आपने बहुत बड़ी प्रतिज्ञा ले ली हैं, अगर आपकी प्रतिज्ञा सत्य हो गई तो राज्य की बेचारी जनता आपको बहुत दुआएं देगी, क्योंकि यह भी सत्य है, इस चैनल से ईमानदार व सत्यनिष्ठ व्यक्ति बहुत दुखी हैं, चाहे वो किसी भी क्षेत्र में क्यों न हो।

Krishna Bihari Mishra

One thought on “रामगढ़ डीएसपी किशोर कुमार की भीष्म प्रतिज्ञा – न्यूज 11 को संविधान व कानून का पाठ पढ़ायेंगे, भंडाफोड़ करेंगे

Comments are closed.

Next Post

नाबालिग बच्ची के साथ नहीं, बल्कि अपराधियों द्वारा झारखण्ड की विधि-व्यवस्था का बलात्कार - दीपक प्रकाश

Mon Jan 17 , 2022
राजधानी रांची के चान्हो में नाबालिग बच्ची के साथ हुई सामूहिक बलात्कार की जघन्य घटना पूरे राज्य को शर्मसार करने वाली है। इस घटना ने राज्य की पूरी विधि-व्यवस्था पर सवालिया निशान लगा दिया है। कहा जा सकता है कि यह राज्य की एक बच्ची का नहीं बल्कि अपराधियों द्वारा […]

You May Like

Breaking News