न्यूज 11 भारत के मालिक अरुप चटर्जी की बढ़ी मुश्किलें, दो मामलों में धनबाद अदालत ने जमानत याचिका खारिज की

धनबाद जेल में बंद न्यूज 11 भारत के मालिक अरुप चटर्जी को चिटफंड कंपनी के नाम पर घोटाला करने के आरोपों से संबंधित दो मामलों में धनबाद की अदालत ने आज जमानत अर्जी खारिज कर दी। अरुप चटर्जी ने जमानत पाने के उद्देश्य से धनबाद के जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत में अपनी जमानत की अर्जी दाखिल कराई थी। आज का पूरा मामला धनबाद के बलियापुर एवं तीसरा थाना से संबंधित था।

ज्ञातव्य है कि आमटाल पंचायत के मुखिया संजय कुमार ने अरुप चटर्जी के खिलाफ बलियापुर थाने में एक प्राथमिकी दर्ज कराई थी। बलियापुर थाने में इसकी प्राथमिकी संख्या 123/22 दर्ज है। इस संबंध में गत् शनिवार को बलियापुर थाने की पुलिस ने मुखिया संजय कुमार की धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराने के उद्देश्य से प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में आवदेन दिया था। उसके बाद प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी सिद्धांत तिग्गा की कोर्ट में मुखिया संजय कुमार का बयान दर्ज कर लिया गया।

संजय ने अपने बयान दर्ज कराने के क्रम में न्यूज 11 भारत के मालिक अरुप चटर्जी पर आरोप लगाया था कि उसने उससे सात लाख रुपये लिये थे और पूरे पैसे उसने ठग लिये। संजय ने प्राथमिकी में इस बात का जिक्र किया है कि घटना वर्ष 2012 की है। रांची डोरंडा का रहनेवाला अरुप चटर्जी और केयर विजन कंपनी का निदेशक अरुप चटर्जी, संजय के घर आकर, उसे कई तरह के प्रलोभन देकर अपने वश में कर लिया। उसी साल 24 फरवरी को संजय ने अरुप चटर्जी को सात लाख 11 हजार पांच सौ रुपये दिये और अरुप चटर्जी ने इतने रुपये लेने के बाद मात्र एक लाख रुपये की रिसीविंग की ही रसीद उपलब्ध कराई और न ही आज तक पूरे पैसे लौटाएं।

इधर धनबाद के तीसरा थाना में दर्ज धोखाधड़ी के दूसरे मामले में प्राथमिकी दर्जकर्ता लोदना निवासी कुंदन पासवान है, इनकी प्राथमिकी के मुताबिक साल 2014 के दौरान, कुंदन ने अपनी मां सुमित्रा देवी के नाम पर करीब 25 लाख रुपये अरुप के चिटफंड कंपनी केयर विजन में जमा कराये थे। उससे कहा गया था कि इसके एवज में प्रत्येक माह तीन हजार रुपये उसकी मां के एकाउंट में आयेंगे, पांच-छह माह तक तो पैसे आये, उसके बाद आज तक खाते में पैसे नहीं आये, पैसे मांगने पर अरुप चटर्जी ने पैसे देने से इनकार कर दिया। अदालत द्वारा दोनों मामलों में अरुप चटर्जी को जमानत न मिलने से अरुप चटर्जी की परेशानी बढ़ती दिख रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.