गढ़वा में मंत्री मिथिलेश का दावा – जहां कभी नक्सलियों की लगती थी जन-अदालत, आज वहां पहुंच रही हैं सरकार और उसका सरकारी अमला

बात झारखण्ड के गढ़वा जिले के रंका प्रखंड मुख्यालय से 35 किलोमीटर दूर दूधवल पंचायत के नागारी गाँव की। इस गाँव में आजाद भारत के बाद पहली बार इस पहुंची है सरकार और सरकारी अमला। यह गाँव पहले नक्सलियों के कब्जे में था। यहां नक्सली कभी जन अदालत लगाया करते थे। यहां मूलभूत सुविधाओं का घोर अभाव था। लेकिन आज परिस्थितियां बदली हैं और ऐसी बदली है कि अब यहां सरकार और सरकारी सुविधा पहुंच रही हैं। उक्त बातें गढवा के विधायक सह राज्य के पेयजल एवं स्वच्छता विभाग मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर ने कही।

श्री ठाकुर ने कहा कि राज्य की हेमंत सोरेन सरकार ने ऐसी ऐसी योजना जनता के लिए लागू की हैं जिससे आज पिछड़े इलाकों के अंतिम व्यक्ति तक इसका लाभ मिल रहा है। आज दूधवल पंचायत के नागारी गाँव में आयोजित आपकी योजना आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।

इस गाँव में पहली बार कोई जनप्रतिनिधि पूरे सरकारी तंत्र के साथ कार्यक्रम में सम्मिलित हुआ। उन्होंने जनता से रुबरु होते हुए झारखण्ड सरकार की सभी योजनाओं को काफी बारीकी से समझाया। उन्होंने बताया कि राज्य की हेमंत सरकार ने आपलोगों के लिए नई योजना लॉन्च किया है, अबुआ आवास।

इस योजना में लाभुकों को दो लाख रूपये तक मिलेंगे और तीन कमरे का मकान बन सकेगा। वहीं उन्होंने कई लाभुकों को सरकार की योजनाओं से लाभान्वित भी किया। उन्होंने कहा कि यह विपक्षी पार्टियों के लिए आइना है क्योंकि इतनी सुदूरवर्ती गाँव में भी इतनी भीड़ है। उन्होंने कहा की एक जमाना था जहाँ कभी नक्सलियों का दरबार लगा करता था। लेकिन आज परिस्थिति ठीक उलट गई हैं और अब यहां पर सरकार का दरबार लग रहा है और लाभुक योजनाओं से लाभान्वित हो रहे हैं। इस कार्यक्रम मे मंत्री ने स्टॉल का निरीक्षण भी किया।