मारवाड़ियों दुर्गा पूजा का चंदा दो, नहीं तो जूते खाओ, गाली सुनो, इससे ज्यादा की धनबाद में तुम्हारी औकात नहीं

धनबाद में गजब की घटना घटी है। दुर्गा पूजा का चंदा मांगने आये मुट्ठी भर, वो भी गिनती के आये तीन असामाजिक तत्वों ने मारवाड़ी समाज से जुड़े एक व्यक्ति की जूते-चप्पल से पिटाई कर दी। यहीं नहीं उसे लाठी से पीटा, जान से उसे मारने की कोशिश भी की। जब वो व्यक्ति घर के अंदर चला गया तो असामाजिक तत्वों ने गुस्से में जमकर उसके घर के दरवाजे को काफी देर तक लाठी से पीटते रहे, गालियां देते रहे।

धनबाद मारवाड़ी जिला सम्मेलन के जिलाध्यक्ष कृष्णा अग्रवाल बताते हैं कि यह घटना धनबाद के धनसार की है। यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। यह घटना भय के माहौल को जन्म दे रहा है। घटना को अंजाम देनेवाले लोग धनबाद के भाजपा सांसद पीएन सिंह के रिश्तेदार है। उनका ये भी कहना है कि ऐसे लोगों पर आईपीसी की धाराओं के तहत कठोर कार्रवाई होनी चाहिए ताकि कोई दूसरा व्यक्ति फिर ऐसी घटना को अंजाम नहीं दे सकें।

आश्चर्य इस बात की है कि यह घटना 11 अक्टूबर 2023 के दिन के दस बजकर आठ मिनट की है। लेकिन आज किसी भी अखबार में इस घटना की कोई खबर नहीं छपी है। कुछ लोगों का कहना है कि मीडिया में इस खबर को न आने देने के लिए मीडिया को मैनेज कर लिया गया है। लेकिन इसमें कितनी सच्चाई है, भगवान जाने। पर सत्य यही है कि इस खबर को किसी भी अखबार ने नहीं छापा है।

हालांकि इस घटना की वीडियो जंगल की आग की तरह सोशल साइट पर वायरल हो रही है। जिसका फूटेज विद्रोही24 के पास भी पहुंचा है। पर वो वीडियो हम यहां उपलब्ध नहीं करा सकते हैं, क्योंकि उस वीडियो में आपत्तिजनक बातें व हिंसक दृश्य हैं, जो समाज को उद्वेलित कर सकती है। इसी लिये हम उसे यहां देने से बच रहे हैं। बताया जा रहा है कि इस घटना की प्राथमिकी भी स्थानीय थाने में दर्ज करा दी गई है। इस घटना से पूरे मारवाड़ी समाज में आक्रोश व्याप्त हैं। कृष्णा अग्रवाल तो कहते हैं कि कोई भी व्यक्ति पूरे समाज को अपमानित करने का काम कैसे कर सकता है? पूरे समाज को उसे गाली देने का अधिकार किसने दिया? यह बर्दाश्त से बाहर है।

सूत्र बता रहे हैं कि इन तीनों असमाजिक तत्वों में एक तारकेश्वर सिंह का बेटा है, जिसका बड़ा भाई एक बड़े जातीय समाज से जुड़े सामाजिक संगठन से जुड़ा है। भाजपा सांसद पीएन सिंह का रिश्तेदार भी है। इस घृणित घटना से एक ओर मारवाड़ी समाज आक्रोशित है, वहीं पूरे धनबाद में एक प्रकार के भय का माहौल है, जिला प्रशासन से इन सभी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।