माले नेताओं का आरोप, BJP MLA के इशारों पर उनके नेता अशोक पासवान को गिरफ्तार किया गया

भाकपा माले झारखंड राज्य सचिव जनार्दन प्रसाद ने एक प्रेस बयान जारी कर भाकपा माले झारखंड राज्य कमेटी सदस्य और गिरिडीह जिला स्थित जमुआ विधानसभा के माले नेता अशोक पासवान की गिरफ्तारी की तीव्र निंदा की है। उन्होंने भाकपा माले के बेकसूर, प्रतिबद्ध व समर्पित जननेता अशोक पासवान की कल वेबजह गिरफ्तारी की कड़ी आलोचना की।

भाकपा माले झारखंड राज्य सचिव जनार्दन प्रसाद ने एक प्रेस बयान जारी कर भाकपा माले झारखंड राज्य कमेटी सदस्य और गिरिडीह जिला स्थित जमुआ विधानसभा के माले नेता अशोक पासवान की गिरफ्तारी की तीव्र निंदा की है। उन्होंने भाकपा माले के बेकसूर, प्रतिबद्ध समर्पित जननेता अशोक पासवान की कल वेबजह गिरफ्तारी की कड़ी आलोचना की।

माले नेता ने कहा कि अशोक पासवान 2009 में मनरेगा मजदूरों की मजदूरी दिलाने के लिए जमुआ प्रखंड मुख्यालय में प्रदर्शन कर रहे थे। उस समय के तत्कालीन बीडीओ ज्योति झा और भाजपा विधायक केदार हाजरा के इशारे पर उन पर झूठा मुकदमा कर दिया गया। जमुआ पुलिस प्रशासन और विधायक ने मिलजुल कर झूठे मुकदमे में अशोक पासवान को  फंसा दिया। आज उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है।  

जनार्दन प्रसाद ने कहा कि अशोक पासवान लगातार जमुआ में गरीब मजदूर असहाय की आवाज को उठाते थे और गरीबों की हर लड़ाई में शामिल रहते थे, जो भाजपा के विधायक को नागवारा गुजरता था और आज सत्ता का गलत इस्तेमाल करते हुए जमुआ में ऐसी आवाज को दबाने की कोशिश भाजपा द्वारा की जा रही है। जिसे भाकपा माले कभी सफल होने नही देगी। बालू चोरी और पत्थर माफिया से जमुआ पुलिस की मिलीभगत  के कारण आज माफिया जमुआ चौक पर खुलेआम घूमता है और जमुआ के छोटेछोटे दुकानदारों के ऊपर जमुआ पुलिस द्वारा जुल्म किया जा रहा है। 

उन्होंने कहा कि इस निकम्मे विधायक और जमुआ पुलिस प्रशासन के खिलाफ हमेशा गरीबों के पक्ष में लड़ाई करने वाले नेता अशोक पासवान  को आज जमुआ प्रशासन  ने गिरफ्तार करके गरीबों की आवाज को बंद करने की असफल कोशिश की है, जो सिर्फ और सिर्फ भाजपा विधायक केदार हाजरा के इशारे पर जमुआ पुलिस द्वारा की जा रही है माले नेता अशोक पासवान को झूठा मुकदमा में गिरफ्तारी के  प्रतिबाद में कल जमुआ में एक प्रतिवाद मार्च निकाला गया एबं जल्द बिना शर्त अशोक पासवान की रिहाई की मांग की गई। 

इस मार्च में भाकपा माले जमुआ प्रखंड सचिव विजय पांडे, ऐपवा नेत्री मीणा दास, इंकलाबी नौजवान सभा जिला उपाध्यक्ष मो0 असगर अली, भोला पासवान विकास पासवान, एनुल अंसारी, रंजीत यादव, ललन यादव भगीरथ पंडित, अभिमन्यु राम, लखन हंसदा आदि लोग शामिल थे। भाकपा माले झारखंड राज्य सचिव जनार्दन प्रसाद ने चेतावनी दी है कि अगर जल्द अशोक पासवान को बिना शर्त रिहा किया गया, तो इस मुद्दे पर राज्य स्तर पर जनान्दोलन को तीव्र किया जाएगा।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

रघुवर की सभा में लोग बुलाये और हेमन्त की बदलाव यात्रा में लोग खुद आते हैं, ये बड़ा फर्क है, हेमन्त-रघुवर में

Fri Aug 30 , 2019
राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास झारखण्ड में कही भी जाते हैं, तो वहां के प्रशासनिक अधिकारियों पर सबसे बड़ा बोझ होता हैं, मुख्यमंत्री की सभा में भीड़ जुटाना। वे इसके लिए महीनों पहले से माथापच्ची करते हैं, उपायुक्त नीचे के पदाधिकारियों को लोगों को लाने के लिए वाहन, खाने-पीने की व्यवस्था, विशेष लोगों के लिए ठहरने की व्यवस्था पहले से करना शुरु कर देते हैं, पर नेता प्रतिपक्ष की सभा या वर्तमान में चल रही बदलाव यात्रा के लिए भीड़ कैसे लाई जाय,

Breaking News