खाली मटका के साथ पानी और बिजली को लेकर सड़कों पर उतरी झामुमो नेत्री महुआ माजी

रांची में पानी-बिजली की क्या स्थिति है? यह किसी से छुपा नहीं। पूरा रांची शहर पानी और बिजली के लिए तरस रहा है, पर राज्य सरकार और उनके प्रशासनिक अधिकारी की क्या मजाल कि इस संकट को टालने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा दें, राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास को जातिगत रैली को अटेंड करने से फुर्सत नहीं और इधर विपक्ष पानी और बिजली की समस्या को लेकर सड़कों पर उतरा हुआ है।

रांची में पानी-बिजली की क्या स्थिति है? यह किसी से छुपा नहीं। पूरा रांची शहर पानी और बिजली के लिए तरस रहा है, पर राज्य सरकार और उनके प्रशासनिक अधिकारी की क्या मजाल कि इस संकट को टालने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा दें, राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास को जातिगत रैली को अटेंड करने से फुर्सत नहीं और इधर विपक्ष पानी और बिजली की समस्या को लेकर सड़कों पर उतरा हुआ है।

आज झारखण्ड मुक्ति मोर्चा ने झारखण्ड महिला मोर्चा की केंद्रीय अध्यक्ष डॉ महुआ माजी के नेतृत्व में पानी और बिजली की अभूतपूर्व संकट को देखते हुए ओटीसी मैदान से लेकर पिस्का मोड़ तक राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान विरोधस्वरुप स्वयं महुआ माजी अपने माथे पर खाली मटका लेकर चल रही थी।

झारखण्ड मुक्ति मोर्चा की नेता महुआ माजी का कहना था कि शायद इस प्रदर्शन से राज्य सरकार की नींद खुले और लोगों को समय पर पानी-बिजली मयस्सर हो, क्योंकि राज्य सरकार पानी और बिजली के मुद्दे पर खासकर राजधानी रांची में तो पुरी तरह फेल नजर आ रही है और जब राजधानी रांची में यह स्थिति है, तो झारखण्ड के अन्य शहरों की क्या स्थिति होगी? इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। इस प्रदर्शन के दौरान अरुण वर्मा, वीरू साहू, वीरू तिर्की, रौशन कुमार, टिंकू अग्रवाल, रामशरण विश्वकर्मा, चिंतामणि सांगा और आशुतोष वर्मा मुख्य रूप से शामिल थे ।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

सुदेश महतो को हुआ दिव्य ज्ञान, CM रघुवर को पत्र लिखकर पांच बिदुओं पर ध्यान आकृष्ट कराया

Sat Jun 2 , 2018
जैसा कि विद्रोही 24.कॉम ने पहले ही भविष्यवाणी कर दी थी, कि आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो विधानसभा का उपचुनाव जीते या हारे, दोनों ही स्थितियों में ये राज्य सरकार के नाक में दम कर देंगे, जिसकी शुरुआत आज से प्रारम्भ भी हो गई। आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो को आज दिव्य ज्ञान प्राप्त हुआ है। वे इस दिव्य ज्ञान से प्रभावित होकर राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास को पत्र लिखकर पांच गंभीर ज्वलंत मुद्दों की ओर सरकार का ध्यान आकृष्ट कराया है,

Breaking News