राज्य में विधि-व्यवस्था पूर्णतः ठप, कल सारे व्यापार रहेंगे बंद, सरकार से व्यापारियों ने पूछा, हम कैसे व्यापार करें?

रांची में पिछले दिनों गहना घर में हुए अपराधिक घटना के विरोध में कल राज्य के सारे व्यवसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। ज्ञातव्य है कि प्रशासन को व्यापारियों द्वारा दिया गया अल्टीमेटम आज समाप्त हो गया। अल्टीमेटम समाप्त होते ही व्यापारियों ने बैठक की और मीडिया को बताया कि कल पूरे राज्य के व्यवसायिक प्रतिष्ठान कल दो बजे तक बंद रहेंगे।

रांची में पिछले दिनों गहना घर में हुए अपराधिक घटना के विरोध में कल राज्य के सारे व्यवसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। ज्ञातव्य है कि प्रशासन को व्यापारियों द्वारा दिया गया अल्टीमेटम आज समाप्त हो गया। अल्टीमेटम समाप्त होते ही व्यापारियों ने बैठक की और मीडिया को बताया कि कल पूरे राज्य के व्यवसायिक प्रतिष्ठान कल दो बजे तक बंद रहेंगे।

फेडरेशन ऑफ झारखण्ड चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज ने सरकार से सीधे सवाल पूछे कि राज्य में जो विधि-व्यवस्था का  हाल हैं, अब सरकार ही बताए कि ऐसी स्थिति में कोई व्यापारी अपना व्यवसाय कैसे चलाएं? व्यापारियों का कहना था कि पर्व-त्यौहार आते रहेंगे और जाते रहेंगे, पर जान ही नहीं रहेगा तो हम क्या व्यापार करेंगे और क्या पर्व-त्यौहार मनायेंगे?

ज्ञातव्य है कि पिछले गुरुवार को हरमू रोड स्थित मारवाड़ी भवन में चैंबर ऑफ कॉमर्स और झारखण्ड प्रांतीय मारवाड़ी सम्मेलन की संयुक्त बैठक हुई थी, जिसमें सभी ने एक स्वर से राज्य में गिरती विधि-व्यवस्था को लेकर चिन्ता व्यक्त की थी, तथा सरकार और प्रशासनिक अधिकारियों को एक अल्टीमेटम दिया था कि रविवार तक गहना घर के अपराधियों को पुलिस गिरफ्तार करें, पर पुलिस को कोई सफलता नहीं मिली, जिसके आलोक में कल राज्य के सारे व्यवसायिक प्रतिष्ठान दो बजे तक बंद रहेंगे।

इधर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री एवं केन्द्रीय जनजातीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने भी रांची में विधि व्यवस्था की स्थिति को चिन्ताजनक बताया है। उन्होंने ये बाते तब कही, जब वे गहना घर में अपराधियों की गोली से घायल रोहित और राहुल खिरवाल को दिल्ली के इन्द्रप्रस्थ स्थित अपोलो अस्पताल देखने पहुंचे थे। उन्होंने इस दौरान राहुल व रोहित खिरवाल के परिवारों से मिलकर उन्हें ढांढंस भी बंधाया।

राज्य में विधि-व्यवस्था का हाल यह है कि कल ही खूंटी के कूड़ापूर्ति पंचायत के आडा गांव के निवासी शीतल मुंडा एवं उनकी पत्नी मादे मुंडा को परसो रात अज्ञात अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी, स्थिति यहां यह है कि कब कौन अपराधी किसे अपने गोली का निशाना बना दें, कुछ कहा नहीं जा सकता और पुलिस अपराधियों को पकड़ने, तथा विधि-व्यवस्था को ठीक करने की बजाय, रघुवर सरकार की कुर्सी कैसे मजबूत बनी रहे, इसको लेकर ज्यादा माथापच्ची करने में जुटी हैं, जिसका परिणाम सामने हैं।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

BJP का नया पैंतरा, लाभार्थी सम्मेलन में आइये, भोज-भात खाइये और भाजपा के ऐहसानों तले दब जाइये

Sun Oct 20 , 2019
भारत निर्वाचन आयोग द्वारा अभी चुनाव की तिथि की घोषणा नहीं हुई हैं, पर भाजपाइयों को हार का डर अभी से सताने लगा हैं, इसलिए यह हार का डर जो न करा दें, देखिये न भाजपा वालों ने क्या-क्या करना शुरु कर दिया हैं? अभी मुख्यमंत्री रघुवर दास का जन-आशीर्वाद यात्रा खत्म भी नहीं हुआ, पर हार के भय ने इन्हें लाभार्थी सम्मेलन करवाने पर मजबूर कर दिया।

You May Like

Breaking News