टनल से बाहर आए झारखण्ड के मजदूरों को एयर लिफ्ट कर एक दिसंबर को लाया जाएगा रांची

मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन के निर्देश पर एक दिसंबर को टनल से बाहर आए 15 मजदूर और उनसे मिलने गए 12 परिजनों को इंडिगो एयरलाइंस से वापस लाया जाएगा। मजदूरों की सकुशल वापसी के लिए मुख्यमंत्री के निर्देश पर जैप आईटी सीईओ भुवनेश्वर प्रताप सिंह के नेतृत्व श्रम नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग के दो पदाधिकारियों को यह जिम्मेदारी दी गई है। वे आज उत्तराखंड से दिल्ली पहुंचेंगे और कल दिल्ली  से रांची लेकर आएंगे।

निर्देशानुसार एक दिसंबर को इंडिगो की फ्लाइट से सभी व्यक्तियों को शाम 8 बजे रांची लाया जाएगा। बता दें कि टनल हादसे के तुरंत बाद ही राज्य सरकार ने तत्परता दिखाते हुए एक टीम घटनास्थल पर भेजी थी। मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन के आदेश के बाद उत्तराखंड के यमुनोत्री नेशनल हाईवे पर निर्माणाधीन टनल से सुरक्षित रेस्क्यू किए गए झारखण्ड के 15 श्रमिकों की देखभाल और उनकी सुरक्षित झारखण्ड वापसी के लिए अधिकारियों की टीम उत्तराखण्ड में वस्तुस्थिति का लगातार जायजा ले रही है।

फिलहाल श्रमिकों का सिलक्यारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्वास्थ्य जांच हुआ है। राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष द्वारा सभी 15 श्रमिकों के परिवार को फोन कर उनके कुशलता की जानकारी दी गई है। इधर राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष झारखण्ड के श्रमिकों के परिवार से लगातार संपर्क में है। श्रमिकों के परिजन अपने प्रियजन की सुरक्षित टनल से बाहर आने और झारखण्ड सरकार से मिल रहे सहयोग से खुश हैं।