कमला ने CM के अतिप्रिय विधायक ढुलू महतो के खिलाफ राज्य के 81 विधायकों को सौंपी पत्र, मांगी मदद

धनबाद कतरास गद्दी मोहल्ला की रहनेवाली कमला कुमारी ने राज्य के सभी 81 विधायकों को पत्र लिखकर मदद की गुहार लगाई है। फिलहाल झारखण्ड में चल रहे विधानसभा के शीतकालीन सत्र में सभी विधायकों को लिखे पत्र से, उसे लगता है कि शायद ऐसा करने से उसे न्याय मिल जाये, क्योंकि उसकी बातों को न तो राज्य की पुलिस सुन रही है और न ही भाजपा का कोई नेता ही उसे मदद करने को तैयार है।

धनबाद कतरास गद्दी मोहल्ला की रहनेवाली कमला कुमारी ने राज्य के सभी 81 विधायकों को पत्र लिखकर मदद की गुहार लगाई है। फिलहाल झारखण्ड में चल रहे विधानसभा के शीतकालीन सत्र में सभी विधायकों को लिखे पत्र से, उसे लगता है कि शायद ऐसा करने से उसे न्याय मिल जाये, क्योंकि उसकी बातों को न तो राज्य की पुलिस सुन रही है और न ही भाजपा का कोई नेता ही उसे मदद करने को तैयार है।

हद तो तब हो गई कि बिना किसी जांच पड़ताल के ही भाजपा प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा ने यौन शोषण के आरोपी भाजपा विधायक ढुलू महतो को क्लीन चिट भी दे दी। ऐसे में वह झारखण्ड विधानसभा के चल रहे शीतकालीन सत्र के दौरान विधानसभा के मुख्य द्वार तक पहुंच गई और एक को छोड़ सभी माननीयों को अपना पज्ञ सौंप कर, न्याय की गुहार लगा दी।

पत्र में कमला कुमारी ने इस बात का जिक्र किया है कि विगत कुछ दिन पहले बाघमारा विधायक ढुलू महतो के द्वारा उसके साथ किये गये यौन शोषण का प्रयास का लिखित शिकायत कतरास थाना में 23 नवम्बर को वह दी है, पर अभी तक इस संदर्भ में कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया गया और न ही प्रशासन ने कोई कार्यवाही की, यहीं नहीं इसी बीच बाघमारा विधायक ढुलू महतो के गुर्गों द्वारा उसे प्रताड़ित भी किया जाने लगा। विधायक ढुलू महतो के दबाव में उसके बच्चों को स्कूल बस से निकालने का प्रयास किया गया, एवं उसकी दुकान को बंद करा दिया गया, जिससे उसके आय के स्रोत बंद हो गये, इन सारी घटनाओं से वो मानसिक दबाव में है।

कमला कुमारी ने पत्र में लिखा है कि विधायक ढुलू महतो के केस उठवा लेने के दबाव में वह कभी भी अप्रिय निर्णय ले सकती है। कमला कहती है कि उसे अंदेशा है कि विधायक ढुलू महतो, उसे या उसके परिवार के लोगों की हत्या करवा सकते हैं। कमला कुम्रारी के अनुसार उपरोक्त संदर्भ में वह अपनी पार्टी भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष, संगठन मंत्री समेत कई पदाधिकारियों, साथ ही राज्य के पुलिस महानिदेशक, पुलिस महानिरीक्षक, महिला आयोग, मानवाधिकार आयोग, वरीय पुलिस अधीक्षक धनबाद, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण धनबाद, थाना कतरास तक को सूचना दी, पर कहीं से कोई न्याय मिलता नहीं दिखता।

वह कहती है कि अब एक ही स्थान बचा है, वह लोकतंत्र का मंदिर, इसलिए उसने सारे विधायकों को ये पत्र भेजे हैं, शायद यहां से न्याय मिले, विधायक लोकतंत्र के सजग प्रहरी है, शायद यहां से न्याय मिले। कमला ने सभी विधायकों से अपील की है कि वह उसके इस पत्र पर सहानुभूति पूर्वक विचार करते हुए संज्ञान लें तथा उसकी मदद को आगे आये। कमला ने इस पत्र के साथ कतरास थाना में ढुलू महतो के खिलाफ की गई ऑनलाइन शिकायत की प्रतियां भी सभी को भेजी है।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

BJP की संभावित हार को देख, CM ने की अपने लिए विशेष व्यवस्था, नेता प्रतिपक्ष को बढ़ाई सुविधाएं

Wed Dec 26 , 2018
लगता है, राज्य के होनहार मुख्यमंत्री रघुवर दास को इस बात का आभास हो गया है कि आनेवाले समय में विधानसभा का चुनाव जब भी हो, उनका मुख्यमंत्री पद पर रहना अब संभव नहीं हैं, राज्य की जनता मन बना चुकी है कि उनकी विदाई अगले वर्ष कर देनी है, शायद यहीं कारण है कि उन्होंने अभी से ही अपने लिए विशेष व्यवस्था करनी शुरु कर दी है, यहीं नहीं अपने साथ रहनेवाले तीन खासमखास लोगों पर भी उन्होंने दया लुटा दी है,

You May Like

Breaking News