धनबाद में जज की हत्या, तमाड़ में वकील की हत्या,पूरे राज्य में कानून व्यवस्था का ध्वस्त होना, मतलब झारखण्ड में जंगलराज का आगाज

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने प्रदेश कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि जिस प्रकार से राज्य में कानून व्यवस्था ध्वस्त हुआ है। जज और वकीलों की हत्या हो रही है। महिलाएं तक सुरक्षित नहीं है, इसका मतलब है कि झारखण्ड में जंगलराज का आगाज हो चुका है।

झारखंड में गिरते कानून व्यवस्था को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद दीपक प्रकाश ने हेमन्त सरकार पर जोरदार हमला बोला, उन्होंने कहा कि राज्य में लॉ एंड ऑर्डर बद से बद्तर हो चुका है। जंगल राज की आहट महसूस हो रही है। 19 महीने के कार्यकाल में 2978 हत्या, 2711 दुष्कर्म, 2400 अपहरण, 538 नक्सल वारदात, 1226 लूट – डकैती, 41 लोगों की डायन हत्या बचा रही है कि राज्य किस ओर चल पड़ा है।

पूरे राज्य की जनता भयभीत है। कुल मिलाकर दस हजार से ज्यादा संगीन मामले दर्ज हुए हैं, जो हेमन्त सरकार की नाकामियों को दर्शा रहा है। पूरे राज्य में लगभग पांच लोगों का प्रत्येक दिन हत्या, दुष्कर्म और अपहरण हो रहा है।

 रूपा तिर्की मामले में भी सीबीआई जांच की अनुशंसा क्यों नहीं?

श्री प्रकाश ने कहा कि भाजपा की मांग और झारखण्ड की जनता की भावनाओं के सामने राज्य सरकार को झुकना पड़ा और जज उत्तम आनंद हत्या की जांच सीबीआई से कराने के लिए अनुशंसा करनी पड़ी। उत्तम आनंद की हत्या के बाद सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी ने हेमन्त सरकार के कानून व्यवस्था की पोल खोल दिया।

उन्होंने कहा कि राज्य की प्रतिभाशाली सब-इंस्पेक्टर रुपा तिर्की की संदिग्ध हत्याकांड में अब तक सीबीआई जांच के आदेश नहीं देने की नीति ने स्पष्ट कर दिया है कि इस हत्याकांड में कहीं न कहीं दाल में काला है। हेमन्त सरकार को जनता की आवाज सुननी चाहिए और रुपा तिर्की हत्याकांड की जांच भी सीबीआई से कराने के लिए अविलंब अनुशंसा करनी चाहिए।

 लोकतान्त्रिक व्यवस्था को अपमानित कर रही हेमन्त सरकार

कांग्रेस सहित यूपीए गठबंधन दलों के द्वारा लोकसभा एवम राज्य सभा की कार्यवाही को बाधित किये जाने पर श्री प्रकाश ने कहा कि कांग्रेस सहित विपक्षी पार्टियों को लोकतांत्रिक व्यवस्था में भरोसा नही है। सदन का सत्र जनता की गाढ़ी कमाई चलता है। सदन में प्रश्नकाल, शून्यकाल को बाधित कर ये पार्टियां जनता के सवालों से भाग रही हैं।

वाह री हेमन्त सरकार, कांग्रेसी कार्यकर्ताओं से प्यार और भाजपाइयों पर एफआइआर

दीपक प्रकाश ने कहा कि हेमन्त सरकार ने रोजगार के मुद्दे पर सर्वाधिक युवाओं को ठगने का कार्य किया है। नियुक्ति वर्ष, प्रत्येक वर्ष पांच लाख की नौकरी, अन्यथा संन्यास लेने की घोषणा मामले में भी इस सरकार ने जनता को धोखा दिया है। 3.29 लाख पद रिक्त पड़ा हुआ है। पारा शिक्षकों, आंगनबाड़ी, संविदाकर्मियों को धोखा दियाट गया है।

जेपीएससी परीक्षा मामले में हाईकोर्ट का निर्देश पालन करने में चेयरमैन कटघरे में हैं। ऐसे में नौजवानों की लड़ाई में भाजपा कंधे से कंधा मिलाकर लड़ेगी। कोरोना काल में भाजपा के कार्यकर्ताओं द्वारा संघर्ष किए जाने पर, किसानों के मुद्दे पर संघर्ष किए जाने पर 171 लोगों पर एफआईआर किया, जबकि कांग्रेस राजभवन के समक्ष कानून को ताख पर रखकर प्रदर्शन कर रही है। यह दोहरा चरित्र है।

पहले पुनर्वास फिर विस्थापन करे सरकार

इसके साथ ही उन्होंने अतिक्रमण के नाम पर चलाए जा रहे अभियान को लेकर कहा कि हेमन्त सरकार पहले पुनर्वास करे फिर विस्थापन करे। बारिश में आशियाना उखाड़ना कतई ठीक नहीं। यह अघोषित आपातकाल है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आरआरडीए के माध्यम से भ्रष्टाचार का नया खेल शुरू हुआ है। ग्रामीण क्षेत्र में भी नोटिस दिया जा रहा है।

यह काला कानून है। साथ ही उन्होंने हेमन्त सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि यह सरकार पैसे के अभाव में झूठा रोना रो रही है जबकि डीएमएफटी में पांच हजार करोड़ से ज्यादा पैसा पड़ा हुआ है। जो की आपदा से संबंधित जिले के विकास के लिए आवंटित है। किंतु इस सरकार में विकास के लिए रोडमैप नहीं है।

 20 अगस्त से पूरे मंडल में सरकार के खिलाफ उतरेगी भाजपा सड़कों पर

 प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा राज्य की बर्बादी नही देख सकती। राज्य में बिगड़ती कानून व्यवस्था, किसानों की समस्या, युवाओं के हक और अधिकार, महिलाओं के सम्मान के लिये भाजपा कार्यकर्ता आगामी 20 अगस्त से सड़क पर उतरकर राज्य सरकार के खिलाफ जोरदार आंदोलन करेंगे। उन्होंने कहा कि इस भ्रष्ट,निकम्मी और विकास विरोधी सरकार को जबतक उखाड़ नही फेकेंगे तब तक वे चुप नही बैठेंगे। चाहे सरकार पार्टी कार्यकर्ताओं पर जितना एफआईआर दर्ज कर ले, भाजपा डरने वाले नही हैं।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

दवाई दोस्त प्रकरणः यह नीतिगत मामला नहीं, यह पूर्णतः भ्रष्टाचारयुक्त मामला है, इससे कोई इनकार नहीं कर सकता

Sun Aug 1 , 2021
रिम्स में कौन दवा सस्ती बेचेगा? कौन बेचेगा? कौन नहीं बेचेगा? यह विशेषाधिकार सही मायनों में रिम्स प्रबंधन के पास है। कल जो रिम्स प्रबंधन के निदेशक कामेश्वर प्रसाद ने प्रेस कांफ्रेस कर यह कहा कि “रिम्स परिसर स्थित दवाई दोस्त को हाल ही में परिसर खाली करना होगा तथा […]

Breaking News