जमशेदपुर की पत्रकार अन्नी अमृता को लिफाफा थमाने की कोशिश, JPP जिलाध्यक्ष के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

जमशेदपुर की पत्रकार अन्नी अमृता को एक प्रेस कांफ्रेस के दौरान लिफाफा थमाने की कोशिश की गई, जिसका अन्नी अमृता ने जोरदार ढंग से प्रतिवाद किया, तथा इस प्रकार की हरकतों के खिलाफ साकची थाना में प्राथमिकी दर्ज करा दी, बताया जा रहा है कि जमशेदपुर के होटल दयाल में झारखण्ड पीपुल्स पार्टी के वरिष्ठ नेता सूर्य सिंह बेसरा का प्रेस कांफ्रेस चल रहा था, जिसमें झारखण्ड पीपुल्स पार्टी का जिलाध्यक्ष कृतिवास मंडल भी मौजूद था।

जमशेदपुर की पत्रकार अन्नी अमृता को एक प्रेस कांफ्रेस के दौरान लिफाफा थमाने की कोशिश की गई, जिसका अन्नी अमृता ने जोरदार ढंग से प्रतिवाद किया, तथा इस प्रकार की हरकतों के खिलाफ साकची थाना में प्राथमिकी दर्ज करा दी, बताया जा रहा है कि जमशेदपुर के होटल दयाल में झारखण्ड पीपुल्स पार्टी के वरिष्ठ नेता सूर्य सिंह बेसरा का प्रेस कांफ्रेस चल रहा था, जिसमें झारखण्ड पीपुल्स पार्टी का जिलाध्यक्ष कृतिवास मंडल भी मौजूद था

जैसे ही प्रेस कांफ्रेस समाप्त हुआ, कृतिवास मंडल ने अन्नी अमृता को रुपये से भरा लिफाफा देने की कोशिश की, जिसकी कड़ी आलोचना अन्नी अमृता ने की, बाद में अन्नी अमृता ने इसकी शिकायत साकची थाना प्रभारी एवं जमशेदपुर के जिला निर्वाचन पदाधिकारी को कर दी, जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने इसे गंभीरता से लिया, तथा पूरे प्रकरण की जांच करवा दी, तथा संबंधित थाना प्रभारी को इस पर एक्शन लेने को कहा।

इधर अन्नी अमृता ने अपने प्राथमिकी में लिखा है कि आज लोकसभा चुनाव में जनमत की ओर से झापीपा के उम्मीदवार सूर्य सिंह बेसरा की होटल दयाल, साकची में सुबह 11 बजे प्रेसवार्ता निर्धारित थी, जिसमें वह भी मौजूद थी, जब अन्नी अमृता सूर्य सिंह बेसरा से बाइट ले ली, तभी उनका कैमरा मैन अपना सामान सहेजने लगा, एक व्यक्ति (जो प्रेसवार्ता के दौरान सूर्य सिंह बेसरा के बगल में बैठा था), उनके पास आया और जरुरी काम का हवाला देकर उन्हें बाहर निकलने का निवेदन करने लगा

जब वो बाहर निकली तो वह सीढ़ियों से उपर चढ़कर, उपर बुलाने लगा। उन्हें लगा कि कोई पीड़ित या व्यक्ति वहां मौजूद है, जिसकी खबर दिखानी होगी, लेकिन वह व्यक्ति अपने पॉकेट से लिफाफा निकालकर उन्हें देने की कोशिश करने लगा, तभी अन्नी अमृता ने उसे बुरी तरह लताड़ा। अन्नी तुरंत वहां से अपने ऑफिस के लिए निकल गई, उनका कहना है कि इसकी सीसीटीवी कैमरों से जांच की जा सकती है।

अन्नी अमृता का कहना है कि वह इस घटना से बहुत आहत है, उनका यह भी कहना है कि कोई व्यक्ति ऐसी हिमाकत कैसे कर सकता है? अन्नी अमृता कहती है कि वो लिफाफा ली ही नहीं, उसमें क्या था, उसे देखना तो दूर की बात है, लेकिन सभी जानते है कि इस लिफाफे के मायने क्या है? अन्नी अमृता ने झापीपा के सूर्य सिंह बेसरा और प्रेस क्लब ऑफ जमशेदपुर के अध्यक्ष बी निवासन को इस बात की पूरी जानकारी दे दी है।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

रवीश को नीतीश की इमेज की चिन्ता, बताया पीएम मोदी की दरभंगा रैली में नीतीश ने वंदे मातरम् नहीं बोला

Wed May 1 , 2019
अब हम आपको बताते हैं। दरअसल इस संभावना से भी नहीं इनकार किया जा सकता, कि 30 अप्रैल को जो रवीश कुमार के द्वारा प्राइम टाइम प्रसारित हुआ, वह नीतीश कुमार का इमेज बनाने के लिए विशेष रुप से प्रसारित करवाया गया हो, जिसमें रवीश कुमार, कशिश न्यूज तथा जदयू के लिए ब्रांडिग करनेवाले महान लोगों की धूर्तता शामिल है। आप इससे इनकार नहीं कर सकते, कि देश में जितनी भी पार्टियां हैं,

Breaking News