JMM ने सभी से की अपील, रघुवर के भ्रष्टाचार व अन्याय के खिलाफ लड़ रहे सरयू राय का करे सहयोग

झारखण्ड मुक्ति मोर्चा ने आज रांची में संवाददाता सम्मेलन कर सभी दलों से अपील की कि राज्य में रघुवर सरकार के भ्रष्टाचार, अन्याय व असत्य के खिलाफ पिछले कई वर्षों से लड़ रहे सरयू राय को सहयोग करें, क्योंकि सरयू राय ने सीएम रघुवर के उन हर बातों की मुखालफत की, जो भ्रष्टाचार को जन्म देती हैं। झामुमो के वरिष्ठ नेता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि जब मुख्यमंत्री रघुवर दास नगर विकास मंत्री थे,

झारखण्ड मुक्ति मोर्चा ने आज रांची में संवाददाता सम्मेलन कर सभी दलों से अपील की कि राज्य में रघुवर सरकार के भ्रष्टाचार, अन्याय व असत्य के खिलाफ पिछले कई वर्षों से लड़ रहे सरयू राय को सहयोग करें, क्योंकि सरयू राय ने सीएम रघुवर के उन हर बातों की मुखालफत की, जो भ्रष्टाचार को जन्म देती हैं। झामुमो के वरिष्ठ नेता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि जब मुख्यमंत्री रघुवर दास नगर विकास मंत्री थे, तब उनके समय में ही मैनहर्ट स्कैंडल हुआ था, जिस मामले को सरयू राय समय-समय पर उठाते रहे।

सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि सरयू राय ने यही नहीं, बल्कि इनके मुख्यमंत्रित्व काल में हुए कम्बल घोटाला, आइपीआरडी घोटाला, धान खरीद घोटाला, अनाज भंडारण घोटाला, स्वास्थ्य उपकरण खरीद घोटाला, दवा घोटाला, चौदह हजार से अधिक विद्यालय को बंद करने के मामले को उठा कर, सीएम रघुवर की नींद उड़ाई, ऐसे लोगों को विपक्ष का सहयोग मिलना ही चाहिए।

सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि जिस प्रकार से सरयू राय ने रघुवर दास को चुनौती दी हैं, उससे साफ लगता है कि झारखण्ड में भाजपा की दीवारें दरकनें लगी है। उन्होंने कहा कि कल तक आइएफए 1927 में संशोधन करने की बात करनेवाली भाजपा, इस संशोधन के माध्यम से वनाच्छादित इलाकों के आदिवासियों और मूलवासियों के अस्तित्व को चुनौती दे रही थी, पर जैसे ही चुनाव दिखाई पड़ा, उस भाजपा को आजकल दिव्य ज्ञान हुआ हैं।

उसके मंत्री प्रकाश  जावेडकर इस संशोधन को वापस लेने की बात कर रहे हैं, जबकि इसकी कोई अधिसूचना जारी नहीं हुई, केवल मौखिक बयान भर हैं। अगर ये संशोधन हो गया तो समझ लीजिये, वनों के संरक्षण के लिए बनी पुलिस के पास शस्त्र होंगे और वह किसी पर भी एक्शन ले सकती है, जिसका आप किसी भी सक्षम न्यायालय में चुनौती भी नहीं दे सकते, ये अंधेर गर्दी नहीं तो क्या हैं?

जब झारखण्ड में विधानसभा का चुनाव आया, तो ये लोगों को प्रलोभन दे रहे हैं, दिग्भ्रमित कर रहे हैं, क्योंकि वे जानते है कि झारखण्ड में आदिवासियों-मूलवासियों की संख्या वोटों को प्रभावित कर सकती हैं, सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि वे इस मामले की शिकायत चुनाव आयोग से की हैं, तथा इस पर एक्शन लेने को कहा है कि क्योंकि ये संशोधन की बात चुनाव को ध्यान में रखते हुए कही गई हैं, जो आदर्श आचार चुनाव संहिता का भी उल्लंघन है।

सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि कुछ साल पहले पीएम मोदी ने एक जनसभा में कहा था कि किसी की भी हिम्मत नहीं कि राज्य की जनता की एक इंच जमीन भी ले सकें, पर गोड्डा में क्या हुआ, कई एकड़ जमीन गौतम अडानी को दे दी गई, ऐसे में किस पर झारखण्ड की जनता भरोसा करें, सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि राज्य की जनता सब समझ चुकी हैं, और इस बार भाजपा को सबक सिखाने को आतुर है। राज्य में भाजपा अब अंतिम सांसे गिन रही हैं।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

अपर्णा को टिकट दिये जाने से नाराज भाजपाइयों ने धनबाद में काटा बवाल, सीएम रघुवर का पुतला फूंका, पीएन की भी नहीं सुनी

Sun Nov 17 , 2019
इधर जमशेदपुर में बवाल और उधर धनबाद में भी बवाल। भाजपा के प्रदेश प्रशिक्षण प्रमुख गणेश मिश्र को निरसा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा का टिकट नहीं मिलने पर, भाजपाइयों में भारी नाराजगी है, हालांकि इस नाराजगी को पाटने का काम युद्धस्तर पर चल रहा हैं, पर भाजपा के बड़े नेताओं को कामयाबी नहीं मिलती दिख रही। कल सायं यानी शनिवार को भाजपाइयों ने सीएम रघुवर का पुतला फूंका तथा रघुवर के विरोध में जमकर नारे लगाये।

You May Like

Breaking News