जलेश्वर महतो ने हाई कोर्ट में दायर की याचिका, ढुलू की विधानसभा सदस्यता रद्द करने की मांग

862

बाघमारा विधानसभा से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़े और मात्र 824  वोटों से चुनाव हारे जलेश्वर महतो ने आखिरकार हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटा ही दिया। आज उन्होंने हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की, जिसमें बाघमारा के भाजपा विधायक ढुलू महतो की सदस्यता समाप्त करने की मांग की गई है।

याचिका में कहा गया है कि जब विभिन्न मामलों में 29 माहों की सजा पाये केरल के जयराजन की सदस्यता समाप्त की जा सकती हैं तो जिस ढुलू महतो ने चुनाव के समय अपने नोमिनेशन में यह स्वीकार किया, कि उसे विभिन्न मामलों में अब तक 84 माहों की सजा हो चुकी है, उसकी सदस्यता बहाल कैसे हैं, उसे चुनाव कैसे लड़ने दे दिया गया? जबकि यह निर्णय सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक बेंच के गाइडलाइन ने दे रखी है कि अपराध की सजा को संपूर्णता में देखा जाना हैं, न कि टुकड़ों में।

जलेश्वर महतो का साफ कहना है कि होना तो यह चाहिए था कि जैसे ही ढुलू महतो ने नामांकन पत्र भरा था, रिटर्निंग ऑफिसर को चाहिए था कि उसके नामांकन पत्र को ही रद्द कर दें, पर उसने ढुलू महतो को चुनाव लड़ने दे दिया, जो गलत है। जलेश्वर महतो का यह भी कहना है कि जब सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक बेंच की गाइडलाइन आ चुकी हैं, तब रिटर्निंग ऑफिसर ने उसे चुनाव लड़ने कैसे दिया?

जलेश्वर महतो ने सबूत के साथ दायर याचिका में यह भी उल्लेख किया कि पीठासीन पदाधिकारी ने मतदान केन्द्र पर हुई वोटिंग की संख्या के हस्ताक्षरित प्रपत्र जो पोलिंग एजेंट को उपलब्ध कराये थे, जब मतगणना के समय उसकी मिलान की गई तो उसकी संख्या में एक बड़ा अंतर देखा गया है, जो कि यह अंतर होना ही नहीं चाहिए।

जलेश्वर महतो ने याचिका में इस बात को उल्लेख किया है कि मतदान केन्द्र संख्या 266 के मतदाताओं का क्या अपराध था कि उनके वोटों की गिनती ही नहीं की गई, क्या मतदान केन्द्र संख्या 266 के मतदाताओं के मतों की गिनती नहीं होनी चाहिए, ये तो वहां के उपायुक्त को तथा चुनाव कार्य संपन्न करानेवाले सारे अधिकारियों को बताना चाहिए। जलेश्वर महतो द्वारा याचिका दायर करने के बाद ढुलू महतो की परेशानी बढ़ती नजर आ रही है।

पूर्व में धनबाद के वरिष्ठ समाजसेवी विजय झा द्वारा इन्हीं बातों को झारखण्ड विधानसभाध्यक्ष के समक्ष रखना तथा ढुलू की सदस्यता समाप्त करने का अनुरोध करना, उसके बाद झारखण्ड के महान समाजसेवी विनोद बिहारी महतो के सुपुत्र एवं पूर्व विधायक राज किशोर महतो द्वारा यह मांग की ढुलू की सदस्यता समाप्त की जाय और अब जलेश्वर महतो द्वारा हाईकोर्ट में याचिका दायर कर देने के बाद अब इतना तो तय है कि बाघमारा भाजपा विधायक ढुलू महतो की अब खैर नहीं।

Comments are closed.