मैं CM हेमन्त सोरेन को जानता हूं, वे हमेशा ऐसा ही करते हैं, बस उन्हें पता लगना चाहिए

419

इस नेक काम के लिए मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन को कोटिशः धन्यवाद। यह नेक काम है – मुंबई के टीएमएच में इलाजरत पत्रकार रवि प्रकाश को उनके द्वारा दी गई आर्थिक सहायता। मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने उनके इलाज के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से दो लाख रुपये की सहायता राशि आज रवि प्रकाश के पुत्र प्रतीक को सौंप दी। यह काम संपन्न हुआ झारखण्ड विधानसभा स्थित मुख्यमंत्री के कक्ष में, जहां उन्होंने दो लाख का चेक रवि प्रकाश के पुत्र को सौंपा।

ज्ञातव्य है कि रवि प्रकाश का इलाज टीएमएच मुंबई में चल रहा है। मुख्यमंत्री ने सहायता राशि तो दी ही, साथ में उन्होंने रवि प्रकाश से बातचीत भी की और उन्हें शीघ्र स्वास्थ्य लाभ हो, इसकी कामनाएं भी की। यही नहीं, उन्होंने सरना धर्मगुरु बंधन तिग्गा के बेहतर इलाज के लिए उनकी पत्नी फिरोज तिग्गा को भी मुख्यमंत्री राहत कोष से दो लाख रुपये का चेक सौंपा। साथ ही उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की।

रवि प्रकाश ने मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन द्वारा दी गई आर्थिक सहायता के लिए उन्हें ट्विटर के माध्यम से यह कहकर शुक्रिया अदा किया कि उन्होंने मुश्किल वक्त में उनके साथ खड़े होने की कोशिश की। हमें लगता है कि यही सब कारण है कि हेमन्त सोरेन को और राजनीतिज्ञों से अलग करता है। वे कोई निर्णय करने में देर नहीं करते, शीघ्र निर्णय करते हैं और बिना किसी लाग-लपेट की सेवा कर देते हैं।

मैंने खुद महसूस किया है कि जब वे नेता प्रतिपक्ष थे, तब भी बहुत सारे लोगों को उन्होंने निस्वार्थ भाव से सेवा की, आर्थिक सहायता पहुंचाई और किसी को लखने भी नहीं दिया कि उन्होंने किसी की सेवा की है, ऐसे कई उदाहरण मेरे पास है। तभी मैं डंके की चोट पर कहता हूं कि ये जो हेमन्त सोरेन हैं औरों से अलग है, इन्हें राज्य का मुख्यमंत्री होना ही चाहिए, और ऐसा ही युवा झारखण्ड को नई दिशा दे सकता है, दूसरा कोई नहीं।

मेरे पास कई प्रमाण है कि राज्य के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने मुख्यमंत्री ही नहीं, नेता प्रतिपक्ष रहने पर भी ऐसे-ऐसे लोगो की मदद की, जिन्होंने उनसे मदद भी नहीं मांगी और चुपके से बुलाकर उन्हें मदद कर दी, सेवा कर दी। जिसका परिणाम निकला, उन लोगों की मिली दुआएं इस प्रकार असर की, कि वे आज मुख्यमंत्री है और उनकी कीर्ति व यश भी फैल रही है, चाहे विपक्ष उन पर कितना भी आरोप लगा दें। सचमुच हेमन्त सोरेन जी, आपको इस कार्य के लिए पुनः बधाई, आप ऐसे ही लोगों की सेवा के लिए सहज उपलब्ध होते रहे, ईश्वर से कामना।

Comments are closed.