हेमन्त सोरेन का बयान – हमारी सरकार बनने के एक घंटे बाद से ही विपक्षी दल सरकार बनाने का सपना देखने लगे, कितने को सपनों में मुख्यमंत्री बना दिया, लेकिन हर बार मुंह की खानी पड़ी

हमारी सरकार बनने के एक घन्टे बाद से विपक्ष के लोग सरकार बनाने का सपना देख रहे हैं। कितने लोगों को तो इन्होंने सपने में मुख्यमंत्री भी बना दिया है। लेकिन जब-जब इन्होंने षड्यंत्र किया तब-तब इन्हें मुँह की खानी पड़ी है। 20 साल क्या किया बताएं ये विपक्ष में बैठे झारखण्डी विरोधी लोग? दीमक की तरह चाट गए यह राज्य को। यह वक्तव्य है राज्य के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन का जो पलामू में आयोजित पलामू प्रमण्डलीय रोजगार मेला कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने पांच हजार से अधिक युवाओं को ऑफर लेटर भी प्रदान किया।

हेमन्त सोरेन ने कहा कि राज्य के प्रमुख विपक्षी दलों ने कभी भी लोगों को हक़-अधिकार से जोड़ने का काम नहीं किया। जब हम लोगों को अधिकार देते हैं तो यह बेईमान लोग हमें भ्रष्टाचारी कहते हैं। इन लोगों के झूठ, षड्यंत्र और अफवाह से कुछ नहीं होने जाने वाला है। हम राज्य के लिए लड़ने, मरने और मिटने वाले लोग हैं। इन षड्यंत्रकारियों को अभी तो सत्ता से बाहर किये हैं, आने वाले समय में इस राज्य से भी बेदखल करेंगे।

उन्होंने कहा कि हमने हमारे राज्य के लोगों को आवास देने के लिए केंद्र सरकार से आग्रह किया, पर वहां कोई सुनवाई नहीं हुई। इसलिए हम नई योजना बनाते हुए आठ लाख से अधिक लोगों को अबुआ आवास योजना से जोड़ने का काम करने वाले हैं। यह आवास प्रधानमंत्री आवास से भी बड़ा होगा। उन्होंने केन्द्र पर आरोप लगाया कि गैर-भाजपा शासित राज्यों के साथ वो सौतेला व्यवहार कर रही है। केंद्र सरकार को राज्य सरकार के साथ ऐसा नहीं करना चाहिए। यह लोकतंत्र का चेहरा नहीं है। आज बरगद का पेड़ भी अपने आप को बड़ा करने के लिए टहनी से अलग से जड़ निकाल कर जमीन से सहारा लेता है।

उन्होंने कहा कि हमने हजारों युवाओं को सरकारी नौकरी से जोड़ने का काम किया है, यह प्रक्रिया निरंतर जारी है। राज्यवासियों को 100 यूनिट तक मुफ्त बिजली भी दे रहे हैं। हम मुख्यमंत्री ग्राम गाड़ी योजना शुरू कर रहे हैं जिससे लोगों को आवागमन में आसानी हो सके। सावित्री बाई फुले किशोरी समृद्धि योजना से लाखों बेटियों को जोड़ा गया है। आप सभी से आह्वाहन है बेटियों को खूब पढ़ाएं, आपकी सरकार आपके साथ है।

उन्होंने कहा कि राज्य में हमारे गरीब ऐसे थे जो सालों-साल नए कपड़े नहीं खरीद सकते थे। हम उन्हें धोती, लुंगी और साड़ी प्रदान कर रहे हैं। आज रांची में ऐतिहासिक झारखण्ड महिला एशियन चैंपियंस ट्रॉफी का आयोजन किया जा रहा है। देश में पहली बार हो रहा है यह चैंपियंस ट्रॉफी। एक अलग उत्साह है लोगों के बीच। हमने प्रत्येक पंचायत में पोटो हो खेल मैदान बनाने का काम किया है। साथ ही सिदो-कान्हू युवा खेल क्लब भी बनाया जा रहा है। झारखण्ड राज्य खनिज संपदाओं के लिए हमेशा जाना जाता है। मगर आज तक इससे राज्य को सिर्फ गलत नाम मिला है, हमारे लोग सिर्फ गरीब और असहाय होने को विवश हुए हैं। इसलिए हम राज्य को अलग दिशा में ले जा रहे हैं जिससे यहाँ के लोगों को आगे बढ़ने का मौका मिले।

उन्होंने कहा कि पिछड़ा राज्य है झारखण्ड। यहाँ गरीब लोग निवास करते हैं। खेत खलिहान ही यहाँ के लोगों की लाइफलाइन है। इसलिए हमने कई लोक-कल्याणकारी योजनाओं को शुरू किया है। सर्वजन पेंशन योजना लागू कर लाखों वंचित लोगों को हक़-अधिकार देने का काम किया गया है। आज महंगाई आसमान पर है। हम गरीब लोगों को हरा राशन कार्ड के जरिए राशन दे रहे हैं उसमें भी केंद्र सरकार गोदामों से राशन नहीं लेने दे रहा है। हमें बाजार भाव से राशन लेना पड़ रहा है। राज्यवासियों की सेवा के लिए हमें जो करना पड़ेगा हम करेंगे।

उन्होंने कहा कि आज पलामू प्रमण्डलीय रोजगार मेला कार्यक्रम में पांच हजार से अधिक युवाओं को ऑफर लेटर प्रदान करने का सौभाग्य मिला। आज के इस कार्यक्रम को छोड़कर श्रम विभाग के द्वारा आयोजित किये गए रोजगार मेला कार्यक्रमों में 30 हजार से अधिक युवाओं को रोजगार से जोड़ने का काम किया गया है। हमने राज्य के स्थानीय युवाओं के लिए कानून भी बनाया है। राज्य में अवस्थित निजी क्षेत्रों में 75 प्रतिशत स्थानीय युवाओं को रोजगार सुनिश्चित करने का काम किया जा रहा है। उसी कड़ी में आज पलामू प्रमण्डलीय रोजगार मेला का भी आयोजन किया गया है।