डुमरी सीट पर मिली सफलता से गदगद झामुमो ने कहा कि अगर अभी लोकसभा चुनाव हो जाये तो भाजपा को झारखण्ड में एक भी सीटें नहीं मिलेगी, दस पर तो जमानत भी नहीं बचेंगे

डुमरी विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में मिली सफलता से गदगद झामुमो के केन्द्रीय महासचिव व प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि अगर आज लोकसभा के चुनाव हो जाये तो 2004 के शाइनिंग इंडिया व फील गुड की तरह भाजपा का हाल हो जायेगा। जैसे उस समय भाजपा झारखण्ड के 14 सीटों में से 13 सीटें हार गई थी। फिर 2006 में हुए उस एक सीट पर भी भाजपा स्वयं को टिका नहीं पाई, मतलब भाजपा शून्य पर आ गई थी, ठीक वैसा ही हाल आज भाजपा का हो जायेगा।

सुप्रियो ने कहा कि आज लोकसभा चुनाव हो जाये तो भाजपा का खाता तक नहीं खुलेगा। दस लोकसभा सीट पर तो उसकी जमानत तक नहीं बचेगी। उन्होंने कहा कि डुमरी सीट जीतने के लिए भाजपा और आजसू ने कौन से प्रपंच नहीं किये। कौन से झूठ उन्होंने नहीं बोले। प्रलोभन तक दिये गये, पर जनता हिली नहीं। वहां निर्वाचन शांतिपूर्ण हुआ। कोई डिस्टरबेंस नहीं था। लोगों ने खुलकर मतदान किया।

सुप्रियो ने कहा कि जो लोग कल कह रहे थे कि डुमरी का चुनाव राज्य सरकार का लिटमस टेस्ट है। तो एक तरह से जनता ने अपना रिपोर्ट प्रस्तुत कर दिया है। लिटमस टेस्ट का हवाला देनेवाले खुद देख लें। जनता ने क्या कहा है? यह टेस्ट राज्य के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन की लोकप्रियता को दर्शाता है, क्योंकि यहां सरकार की एक मंत्री चुनाव लड़ रही थी। लोगों ने सहमति जताई। हेमन्त सरकार के गवर्नेंस को एप्रूव किया और कहा कि हमारी सरकार हमारे साथ हैं, हम उनके साथ है।

सुप्रियो ने कहा कि डुमरी की जनता ने बेबी देवी को जीताकर जगरनाथ दा को श्रद्धांजलि दी है। हम उनके प्रति आभार प्रकट करते हैं। उन्होंने कहा कि बेबी देवी को पराजित करने के लिए एनडीए की ओर से तीन-तीन पूर्व मुख्यमंत्री, एक उपमुख्यमंत्री, कई धन्नासेठ लगे हुए थे। पर उन्हें पराजय का मुंह देखना पड़ा। इस बार सात विधानसभा सीटों पर चुनाव हुए, जिसमें इंडिया गठबंधन ने शानदार जीत दर्ज की है, जो बताता है कि जनता ने इस नारे को दिवारों पर लिखवा दिया है कि – जुड़ेगा भारत, जीतेगा इंडिया।