CM का चहेता बाघमारा का BJP MLA ढुलू के खिलाफ यौन शोषण मामले में प्राथमिकी दर्ज, कमला को मिली सफलता

आखिरकार झारखण्ड उच्च न्यायालय का दबाव रंग लाया। मुख्यमंत्री रघुवर दास का चहेता बाघमारा का दबंग विधायक ढुलू महतो के खिलाफ यौन शोषण का मामला दर्ज हो गया। ये प्राथमिकी कतरास थाना में आज दर्ज हुई। ज्ञातव्य है कि भाजपा धनबाद की जिला मंत्री कमला कुमारी ने बाघमारा के दबंग विधायक ढुलू महतो पर आरोप लगाया था कि उसने उसका यौन शोषण किया था,

आखिरकार झारखण्ड उच्च न्यायालय का दबाव रंग लाया। मुख्यमंत्री रघुवर दास का चहेता बाघमारा का दबंग विधायक ढुलू महतो के खिलाफ यौन शोषण का मामला दर्ज हो गया। ये प्राथमिकी कतरास थाना में आज दर्ज हुई। ज्ञातव्य है कि भाजपा धनबाद की जिला मंत्री कमला कुमारी ने बाघमारा के दबंग विधायक ढुलू महतो पर आरोप लगाया था कि उसने उसका यौन शोषण किया था। 

कमला ने इस मामले को लेकर लगभग एक साल पहले कतरास थाने में ऑनलाइन शिकायत की थी, पर स्थानीय पुलिस ने उसकी प्राथमिकी दर्ज ही नहीं की। कमला ने अपनी प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए, क्या नहीं किये, पर किसी ने उसकी सुनने की कोशिश नहीं की। वह अपने उपर हुए यौन शोषण को लेकर, तथा प्राथमिकी दर्ज कराने को लेकर कतरास थाने के समक्ष आत्मदाह का प्रयास किया।

वह विधानसभा पहुंची तथा एकएक विधायक से मिलकर, मदद मांगी कि वे लोग कम से कम प्राथमिकी दर्ज कराने में मदद करें, पर किसी विधायक ने उसकी मदद नहीं की। कमला धनबाद रांची में प्रेस कांफ्रेस तक की, पर उसके बावजूद भी उसे कोई सहायता नहीं मिली, अंत में कमला ने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया, जहां उसे लगा कि अब उसे न्याय मिलेगा।

हाल ही में झारखण्ड हाई कोर्ट ने राज्य के पुलिस महानिदेशक और धनबाद के एसएसपी से स्पष्टीकरण मांगा था कि वो बताएं कि आखिर किस कारण कमला की प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई, उसी दिन क्लियर हो गया कि राज्य की पुलिस अब ज्यादा इस मामले को लटका नहीं सकती, उसे प्राथमिकी दर्ज करना ही पड़ेगा और आज कतरास थाने में प्राथमिकी दर्ज हो गई।

राजनैतिक पंडितों की मानें तो नवरात्र के दिन, उसमें भी महाष्टमी के दिन ढुलू महतो के खिलाफ यौन शोषण का मामला दर्ज होना, इस बात का संकेत है कि अब उसके दिन लदने शुरु हो गये, राजनैतिक पंडित ढुलू महतो के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज होने को ही, कमला की प्रथम जीत बता रहे हैं, तथा ये कहने से भी नहीं चूक रहें कि भगवान के घर देर हैं, अंधेर नहीं, आनेवाले समय में कमला को न्याय अवश्य मिलेगा, कमला को ईश्वर और न्यायालय पर भरोसा रखना चाहिए।

Krishna Bihari Mishra

Next Post

एक से एक नमूने हैं, जहांपनाह ने बोतल क्या उठाया, संपादक को कमिटमेंट नजर आया, अथ बागी उवाच

Mon Oct 7 , 2019
एक से एक नमूने संपादक हैं यहां, जो एक से बढ़कर एक चिरकूटई कर रहे हैं, चापलूसी के सारे रिकार्ड अपने पास रख रहे हैं, ताकि वे इस चुनावी वर्ष में वित्तीय लाभ ले सके और उसके लिए ये हर प्रकार के वो हथकंडे अपना रहे हैं, जो पत्रकारिता के मूल्यों व सिद्धांतों के प्रतिकूल है। 15 सितम्बर 2018 - रांची के डिबडीह गांव का नया टोला यहां स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम का आयोजन था,

Breaking News